" /> 1 जून से चलेगी 200 नॉन एसी ट्रेन : 21.5 लाख श्रमिक पहुंचे अपने गांव

1 जून से चलेगी 200 नॉन एसी ट्रेन : 21.5 लाख श्रमिक पहुंचे अपने गांव

भारतीय रेल द्वारा निरंतर श्रमिक ट्रेनों का परिचालन जारी है। अब तक कुल 1,600 ट्रेनों के माध्यम से लगभग 21.5 लाख श्रमिकों को उनके स्थानों तक पहुंचाया जा चुका है। श्रमिकों को बड़ी राहत देते हुए भारतीय रेल वर्तमान में रोजाना करीब 200 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन करने जा रहा है।
राज्य सरकारों से अनुरोध किया गया है कि जो श्रमिक रास्ते में हैं उन्हें राज्य सरकारें मेन लाइन रेलवे स्टेशन के नजदीक पंजीकृत करें एवं इसकी लिस्ट रेलवे को दें, जिससे कि श्रमिक स्पेशल ट्रेन द्वारा उन्हें उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचाया जा सके। इन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अतिरिक्त भारतीय रेल 1 जून से प्रतिदिन 200 अतिरिक्त टाइम टेबल ट्रेनें चलाने जा रहा है जो कि गैर वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी की ट्रेन होंगी। इन ट्रेनों की बुकिंग ऑनलाइन ही उपलब्ध होगी। ट्रेनों के परिचालन से जुड़ी अधिक जानकारी जल्द ही रेलवे जारी करेगी।

पश्चिम रेलवे अब तक 630 श्रमिक स्पेशल ट्रेन चला चुकी है। ये ट्रेनें 2 मई से 19 मई के बीच चल चुकी हैं।इस दौरान 9,07,119 श्रमिकों को उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचाया है। 19 मई को पश्चिम रेलवे ने 5 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को मुंबई डिवीजन से चलाया है, जिसमें से एक ट्रेन बांद्रा टर्मिनस से पुर्णिया और 4 ट्रेन बोरीवली से प्रतापगढ़, वाराणसी, जौनपुर और गांधीधाम के लिए एक-एक ट्रेन चलाई गई है।