" /> 1000 बेड के कोविड-19 अस्पताल का निर्माण कार्य अंतिम चरण में : पालकमंत्री ने किया मौके का मुआयना

1000 बेड के कोविड-19 अस्पताल का निर्माण कार्य अंतिम चरण में : पालकमंत्री ने किया मौके का मुआयना

आधुनिक सुविधाओं से होगा लैस

कोरोना संक्रमित मरीजों की सुविधा के लिए अत्याधुनिक 1000 बेड की क्षमतावाले अस्पताल के निर्माण का काम अंतिम चरण में है। यह जानकारी पालकमंत्री एक नाथ शिंदे ने दी है। उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने तथा संक्रमित मरीजों को समुचित इलाज उपलब्ध कराने में मनपा प्रशासन दिन-रात एक किए हुए है। शिवसेना नेता एवं जिले के पालकमंत्री लगातार संबंधित अधिकारियों के साथ न केवल बैठक कर रहे हैं बल्कि प्रशासन के साथ आपसी सामंजस्य स्थापित कर कोरोना के विरुद्ध लड़ी जा रही लड़ाई का नेतृत्व कर रहे हैं।

बता दें कि कोविड-19 अस्पतालो तथा आइसोलेशन केंद्रों में मौजूद सुविधाओं की जानकारी लेने के लिए पालकमंत्री लगातार दौरा कर रहे और आवश्यक निर्देश देकर कमियों को दूर करने का प्रयास कर रहे हैं। कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार में बेड की कमी न हो, इसके लिए माजीवाड़ा स्थित ग्लोबल इम्पेक्ट हब में 1000 बेडवाले अस्पताल का निर्माण कार्य पिछले 15 दिनों से चल रहा है। गुरुवार को मौके का मुआयना करने के बाद पालकमंत्री शिंदे ने बताया कि अस्पताल में 500 बेड सामान्य तथा 500 ऑक्सीजन बेड के निर्माण का काम अंतिम चरण में है। इसमें 100 बेड आईसीयू, डायलिसिस सेंटर तथा लेबोरेटरी के लिए तैयार किए जा रहे हैं। पिछले दो सप्ताह से इसके निर्माण का काम दिन-रात चल रहा है। अस्पताल के निर्माण का काम अंतिम चरण में है। अस्पताल में विश्वस्तर की आधुनिक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध है। अस्पताल के अंदर बेड बढ़ाने की क्षमता मौजूद है। आवश्यकता पड़ने पर शहर के अन्य ठिकानों पर भी इस तरह के अस्पतालों का निर्माण किया जाएगा।
जल्द ही इस अस्पताल को मरीजों की सेवा हेतु सौंप दिया जाएगा। इस अवसर पर सांसद राजन विचारे, विधायक रवींद्र फाटक, उपमहापौर पल्लवी कदम, सभागृह नेता अशोक वैती, स्थायी समिति सभापति राम रेपाले, मनपा आयुक्त विजय सिंघल सहित अनेक अधिकारी मौजूद रहे।