" /> 15 करोड़ के सेंथेटिक ड्रग्स को साड़ी में रखकर मलेशिया ले जाने की थी तैयारी, DRI वाराणसी ने पकड़ा

15 करोड़ के सेंथेटिक ड्रग्स को साड़ी में रखकर मलेशिया ले जाने की थी तैयारी, DRI वाराणसी ने पकड़ा

केमिकल से लैबोरेट्री में बनाई गईं ड्रग्स एम्फेटामाइन (Amphetamine) की बड़ी खेप वाराणसी डीआरआई की टीम ने पकड़ने में सफलता प्राप्त की है। ड्रग्स दिल्ली से राजधानी एक्सप्रेस से कोलकाता ले जाई जा रही थी। डीआरआई की टीम ने सटीक सूचना के आधार पर तीन तस्करों सहित 49.240 किलो एम्फेटामाइन, जिसकी कुल कीमत 15 करोड़ रुपये है, पीडीडीयू जंक्शन पर नई दिल्ली-सियालदाह राजधानी ट्रेन के कोच संख्या A-1 से बरामद किया है।
डीआरआई के ऑफिसर्स की माने तो यह सेंथेटिक ड्रग्स एम्फेटामाइन कोलकता से साड़ियों के कंसाइनमेंट में रखकर मलेशिया भेजा जाना था। बता दें कि पिछले चार सालों में भारत सहित अन्य देशों में रेव पार्टियों में अफीम, कोकीन से ज़्यादा केमिकल से लैबोरेट्री में बनाई गईं ड्रग्स एम्फेटामाइन (Amphetamine) का इस्तेमाल तस्करों द्वारा किया जाने लगा है।
इस बरामदगी के सम्बन्ध में वाराणसी डीआरआई के सीनियर इंटिलिजेंस ऑफिसर आनंद राय ने बताया कि हमें सूचना मिली थी कि तीन लोग नई दिल्ली-सियालदाह राजधान एक्सप्रेस ( ट्रेन नंबर 12314) के A1 कोच से सफर कर रहे हैं और उनके पास भारी मात्रा में एम्फेटामाइन (Amphetamine) ड्रग्स मौजूद है। इस सूचना पर विश्वास करते हुए इंटिलिजेंस ऑफिसर लेख राज, मुकुंद सिंह और अनंत द्विवेदी को साथ लेकर हमने 2 मार्च की रात पीडीडीयू नगर जंक्शन पर ट्रेन नंबर 12314 के A-1 कोच से सफर कर रहे तीन लोगों रियास अब्दुल निवासी कोल्लम, केरला, विमल राज निवासी जनपद शिवगंगा तमिलनाडु और जुम्मा खान निवासी जनपद शिवगंगा तमिलनाडू को गिरफ्तार कर लिया।
सीनियर इंटिलिजेंस ऑफिसर आनंद राय ने बताया कि तीन के पास मिले बैग में 49.240 किलो केमिकल से लैबोरेट्री में बनाई गईं ड्रग्स एम्फेटामाइन (Amphetamine) बरामद हुई है। इस ड्रग्स की कीमत अन्तरराष्ट्रीय बाज़ार में 14 करोड़ 77 लाख 20 हज़ार रुपये ( प्रति किलो 30 लाख रुपये) आंकी गयी है।
आनंद राय ने बताया कि पकडे गए तीनो तस्कर कैरियर हैं और ये चेन्नई का एक सिंडिकेट है जो इस ड्रग्स की सप्लाई में लगा हुआ है। ये ड्रग्स कोलकाता से हवाई मार्ग से साड़ी के कंसाइनमेंट में रखकर मलेशिया भेजा जाना था। आनंद राया के अनुसार यह अभी तक वाराणसी सीआरआई द्वारा केमिकल से लैबोरेट्री में बनाई गईं ड्रग्स एम्फेटामाइन (Amphetamine) को लेकर सबसे बड़ी कार्रवाई है।