" /> 15 जुलाई तक 40 विमानों से आएंगे प्रवासी

15 जुलाई तक 40 विमानों से आएंगे प्रवासी

महाराष्ट्र सरकार मुंबई में वन्दे भारत अभियान के तहत विदेश में फंसे महाराष्ट्र और अन्य राज्यों के आनेवाले नागरिकों को उनके आइसोलेशन करने की जिम्मेदारी ले रही है और अब तक इस अभियान के तहत 182 विमानों में 28,435 यात्री मुंबई पहुंच चुके हैं। मुख्यमंत्री जनसंपर्क अधिकारी कार्यालय की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार 15 जुलाई, 2020 तक यात्रियों को मुंबई लाने के लिए और 40 उड़ानों की उम्मीद है। विदेशों से आनेवालों में अब तक प्रवासियों में मुंबई के यात्रियों की संख्या 10,347 है। शेष महाराष्ट्र में यात्रियों की संख्या 9,752 है। अन्य राज्यों के यात्रियों की संख्या 8,336 है। कुल यात्रियों की संख्या 28,435 हो गई है। ये प्रवासी ब्रिटेन, सिंगापुर, फिलीपींस, अमेरिका, बांग्लादेश, मलेशिया, कुवैैत, इथोपिया, अफगानिस्तान, ओमान, दक्षिण अफ्रीका, इंडोनेशिया, नीदरलैंड, जापान, श्रीलंका, म्यांमार, तंजानिया, स्पेन, आयरलैंड, कतर, हांगकाग, कजाकिस्तान, मॉरिशस, ब्राजील, थाईलैंड, केनिया, मियामी, वियतनाम, इटली, स्वीडन, रोम, जर्मनी, दुबई, मालावी आदि देशों से मुंबई में दाखिल हुए हैं। 15 जुलाई, 2020 तक कुल 40 विमानों से प्रवासी उक्त देशों से मुंबई आनेवाले हैं।
ग्रेटर मुंबई में यात्रियों के लिए होटल में क्वारंटीन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। जिला मुख्यालय के माध्यम से लोगों को उनके जिलों में भेजने की व्यवस्था की जा रही है। प्रशासन क्वारंटीन किए गए लोगों पर कड़ी नजर रख रहा है और इसे सख्ती से लागू किया जा रहा है। अन्य राज्यों के यात्रियों को संबंधित राज्य से परिवहन पास प्राप्त होने तक मुंबई में क्वारंटीन केंद्र में रखा जाता है। संबंधित राज्य से यात्री पास मिलते ही उन्हें उनके गृह राज्य वापस भेज दिया जाता है। महाराष्ट्र सरकार केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और केंद्रीय गृह मंत्रालय के समन्वय में वंदे भारत अभियान को सफलतापूर्वक चला रही है।