" /> ठाणे में विराजेंगे ४ फुट के बप्पा, मनपा ने जारी की गाइडलाइन

ठाणे में विराजेंगे ४ फुट के बप्पा, मनपा ने जारी की गाइडलाइन

गणेशोत्सव के लिए ठाणे मनपा ने घरेलू और सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडलों के लिए गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत घरेलू मूर्तियों की ऊंचाई २ फुट व मंडलों के मूर्तियों की ऊंचाई ४ फुट होगी। कोरोना को ध्यान में रखते हुए दर्शनार्थियों की जांच के लिए हर सार्वजनिक गणेशोत्सव पंडालों में थर्मल स्कैनर और पल्स ऑक्सीमीटर अनिवार्य किया गया है। महापौर नरेश म्हस्के और आयुक्त डॉ. विपिन शर्मा ने गणेश भक्तों से सहयोग की अपील करते हुए गाइडलाइन के अनुसार गणेशोत्सव मनाने का आह्वान किया है।
ये हैं दिशा-निर्देश
मूर्तियां ईको प्रâेंडली हों और घर में ही विसर्जित की जाएं। घर में संभव न हो तो घर के निकट ही किसी बनाए गए स्थान पर विसर्जित की जाएं। विज्ञापन स्वास्थ्य और सामाजिक संदेशों पर केंद्रित हों। इस दौरान कोरोना, मलेरिया, डेंगू से बचने के उपाय को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जाए। आरती, भजन-कीर्तन सादगी से हो और इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाए।
ऑनलाइन होंगे दर्शन
दर्शन की ऑनलाइन व्यवस्था की जाए। मंडप का सैनिटाइजेशन निरंतर किया जाए। श्रद्धालुओं को मास्क लगाना व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी होगा। मंडपों में सैनिटाइजर की व्यवस्था की जाए। विसर्जन स्थल पर जो आरती होती है, वह घर में ही की जाए। विसर्जन स्थल को कम समय में बंदकर दिया जाएगा। बच्चे और बुजुर्ग विसर्जन स्थल पर न जाएं। विसर्जन के लिए एक साथ कई मूर्तियां बाहर न निकाली जाएं।
पंडालों की ऊंचाई हो सीमित
पंडालों की ऊंचाई १२ फुट से अधिक न हो। पंडाल में प्रवेश करनेवाले और दर्शन करनेवाले गणेशभक्तों की लिस्टिंग करना मंडलों को अनिवार्य किया गया है।
२० जगहों पर मूर्ति स्वीकार केंद्र
मनपा आयुक्त डॉ. विपिन शर्मा ने बताया कि विसर्जन केंद्रों पर नागरिकों की भीड़ न हो, इसे ध्यान में रखते हुए इस बार मूर्ति स्वीकार केंद्र की संख्या को भी बढ़ाया गया है। शहर के ९ प्रभाग समितियों में २० जगहों पर मूर्ति स्वीकार केंद्र और १३ जगहों पर कृत्रिम तालाब का निर्माण किया जाएगा।