" /> 55 वर्षीय मृतक व्यक्ति का मामला : श्मशान भूमि के 12 कामगारों में घबराहट

55 वर्षीय मृतक व्यक्ति का मामला : श्मशान भूमि के 12 कामगारों में घबराहट

ठाणे के लोकमान्य नगर में एक 55 वर्षीय मरीज की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हो गई थी लेकिन इसकी रिपोर्ट आने के पहले ही उक्त व्यक्ति का अंतिम संस्कार कर दिया गया था। यह अंतिम संस्कार वागले इस्टेट स्थित श्मशान भूमि में 12 कामगारों द्वारा किया गया था। अब इस बात की जानकारी मिलने के बाद श्मशान भूमि में कामगार डर गए हैं। इन लोगों ने मनपा प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।
श्मशान भूमि के कामगारों का कहना है कि उन्हें एक ही जोड़ी हैंड ग्लोव्ज मिला है, जिसे वे बदल-बदलकर पहनते हैं। साथ ही यहां पर सैनिटाइजर की व्यवस्था भी नहीं है। इसके अलावा यहां पर स्वास्थ्य संबधित कोई सुविधा उपलब्ध नहीं कराई गई है, जबकि वे सभी कामगार 55 वर्षीय मृतक के अंतिम संस्कार में आए हुए लोगों के संपर्क में आए थे साथ ही मृतक के अंतिम संस्कार के दौरान शव को भी हाथ लगाया था। ऐसे में उन्हें भी कोरोना के संक्रमण का डर है लेकिन अभी तक मनपा की तरफ से कोई भी सुविधा और जांच नहीं की गई है। अब यहां पर कार्यरत 12 कामगारों ने मनपा प्रशासन से स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने और खुद का मेडिकल टेस्ट कराने की मांग की है लेकिन मनपा की तरफ से अब तक कोई जवाब नहीं मिला है।