" /> 93 पुलिस स्टेशन 40 वर्ष तक के पुलिस जवानों के हवाले- गृह मंत्री अनिल देशमुख

93 पुलिस स्टेशन 40 वर्ष तक के पुलिस जवानों के हवाले- गृह मंत्री अनिल देशमुख

385 विशेष ट्रेनों से 5 लाख उत्तर भारतीयों को भेजा गया उनके गृह राज्य
सामना संवाददाता / मुंबई
महाराष्ट्र से अब तक सवा चार लाख से अधिक उत्तर भारतीय श्रमिकों को उनके घर छोड़ दिया गया है। यह जानकारी राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख  एक वीडियो संदेश जारी करके दी है। वीडियो संदेश में कहा गया है कि मंगलवार रात यानी 19 मई की रात तक  पांच लाख से अधिक उत्तर भारतीय अपने घरों में पहुंच गए हैं। अनिल देशमुख ने कहा कि 19 मई को रात 9 बजे तक महाराष्ट्र से 4,26,778 मजदूरों के लिए 320 ट्रेनें जारी की गईं। इनमें से छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस से ५१, लोकमान्य तिलक टर्मिनस से ४५, पुणे से ३२, बोरीवली से २५, बांद्रा टर्मिनस से २२ और पनवेल से २१ ट्रेनें चलाई गईं। देशमुख ने कहा कि इन सभी श्रमिकों की ट्रेन यात्रा की पूरी लागत महाराष्ट्र सरकार द्वारा वहन की जा रही है। उन्होंने कहा कि उत्तर भारतीय कर्मचारियों को उनके राज्य तक पहुंचने के लिए मंगलवार रात तक 325 ट्रेनें जारी की गई थीं जबकि 60 ट्रेनें कल यानी 20 मई  को जारी की जाएंगी।  देशमुख ने यह भी कहा कि इन 385 ट्रेनों से 5 लाख से अधिक उत्तर भारतीय कर्मचारी अपने राज्यों में पहुंचेंगे। केवल जिन मजदूरों के नाम यात्री सूची में हैं, उनसे टेलीफोन द्वारा संपर्क किया जाएगा और उन्हें केवल स्टेशन पास पहुंचना होगा। इन श्रमिकों के टिकटों की पूरी लागत राज्य सरकार द्वारा वहन की जाएगी। मुंबई पुलिस श्रमिकों को उनके घरों में भेजने के लिए दिन-रात काम कर रही है, जो उन पर अतिरिक्त तनाव डालता है।  इसलिए पुलिस की मदद करने के लिए मुंबई के 93 पुलिस स्टेशनों में 40 साल से कम उम्र के कर्मचारियों को ड्यूटी पर लगाया गया है, ऐसा देशमुख ने बताया।