दो मासूम बनी दरिंदों की शिकार

पालघर जिले के अलग-अलग पुलिस स्टेशन क्षेत्र में दो मासूम बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने की घटना सामने आई है, इसमें से पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। मिली जानकारी के अनुसार नालासोपारा-पूर्व में एक साढ़े पांच वर्षीय लड़की अपने परिजनों के साथ रहती थी। उसके पिता ने बताया कि वह पिछले ९ वर्षों से उक्त क्षेत्र में रह रहे हैं। सोमवार की रात लगभग ९ बजे उनकी बेटी अपने घर के बाहर खेल रही थी, उसी दौरान वह लापता हो गई, जिसकी शिकायत परिजनों ने स्थानीय पुलिस स्टेशन में की। दूसरे दिन सुबह जब बच्ची की तलाश करते परिजन घर से कुछ दूर स्थित जंगल की ओर पहुंचे तो परिजनों की आवाज सुनकर बच्ची जंगल से बाहर आई और घरवालों को आपबीती बताई। बच्ची को लेकर परिजन तुलिंज पुलिस स्टेशन पहुंचे जहां पुलिस ने उसे उपचार के लिए पहले वसई-विरार मनपा अस्पताल भेजा, फिर डॉक्टरों ने उसे जे.जे अस्पताल भेज दिया। जहां मेडिकल रिपोर्ट में मासूम लड़की के साथ दुष्कर्म होने की पुष्टि की गई। इस खबर से क्षेत्र व आस-पास से सैकड़ों की संख्या में महिलाएं व पुरुष एकत्र हो गए और क्षेत्र की दुकानों को बंद कराने लगे। पुलिस ने किसी तरह लोगों को शांत कराया। पुलिस इस मामले में एक व्यक्ति को संदेह के आधार पर हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

दूसरी घटना वालिव पुलिस स्टेशन के अंतर्गत घटी, जहां ६ वर्षीय मासूम को आरोपी रशीद बसीर खान (५४) ने अपना शिकार तब बनाया जब वह खेल रही थी। आरोपी ने मासूम के साथ दुष्कर्म किया। यहां तक कि आरोपी ने मासूम को धमकाया भी था। हालांकि मासूम लड़की ने परिजन को उक्त घटना के बारे में बता दिया। जिसके बाद लड़की के परिजन ने आरोपी रशीद के खिलाफ शहर के पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई। शिकायत के आधार पर आरोपी रशीद के खिलाफ पुलिस ने ३७६ (अ,ब ),३७६ (जे ),५०६ सह बालक लैंगिंक अत्याचार अधिनियम २०१२,४,५ के तहत मामला दर्ज किया है।

तुलिंज पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक डेनियल बेन ने बताया कि साढ़े पांच वर्षीय मासूम लड़की के मामले में सर्वप्रथम धारा ३६३ के तहत केस दर्ज किया गया था, इसके बाद लड़की का मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद धारा ३७६ और पॉस्को की धारा बढ़ाई गई है।