" /> दिवा में डॉक्टरों के 20 दवाखाने सील

दिवा में डॉक्टरों के 20 दवाखाने सील

दिए गए दिशा निर्देशों का उलंघन करने एवं सहयोग न करने के आरोप में दिवा प्रभाग समिति के अंतर्गत दिवा स्थित कुल 20 डॉक्टरों के दवाखानों को सील कर दिया गया है तथा संबंधित डॉक्टरों को उनकी डिग्री सर्टिफिकेट प्रभाग समिति में जमा कराने का नोटिस जारी कर दिया गया है। जांच पड़ताल के बाद डॉक्टरों को व्यवसाय करने की अनुमति प्रदान की जाएगी, यह जानकारी दिवा प्रभाग समिति के सहायक आयुक्त डॉ. सुनील मोरे ने दी है।
उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए मनपा प्रशासन द्वारा अनेक उपाय योजनाओं को लागू किया जा रहा है। इसी उपाय योजना के तहत मनपा अधिकारियों की डॉक्टरों के साथ कई बार बैठक हुई थी, जिसमें यह निर्देश दिया गया था कि सर्दी, जुकाम, बुखार से पीड़ित अगर कोई भी मरीज दवाखाने में आता है, तो उसकी जानकारी प्रभाग समिति में दिया जाना जरूरी है। दिवा में अनेक डॉक्टरों ने जहां अधिकारियों के इस निर्देश का पालन किया, वहीं अनेक डॉक्टर ऐसे थे, जिन्होंने किसी भी तरह की जानकारी देने की जहमत नहीं उठाई। वे अपने हिसाब से दवाखाना खोलते रहे और अपने हिसाब से मरीजों का इलाज करते रहे। सहायक आयुक्त डॉ. मोरे का कहना है कि कोरोना के कंट्रोल करने में डॉक्टरों की भूमिका बेहद अहम है। हर डॉक्टर की जिम्मेदारी है कि कोरोना की रोकथाम में मनपा का सहयोग करे। उनका कहना है दिवा स्थित 20 दवाखानों को सील किया गया है। उनको नोटिस देकर संबंधित डॉक्टरों को डिग्री दिखाने के लिए कहा गया है। डिग्री की जांच पड़ताल करने के बाद उन्हें जल्द से जल्द से दवाखाना चलाने की अनुमति प्रदान कर दी जाएगी।