" /> आदित्य ठाकरे के अनुरोध पर मुंबई पुलिस ने युवक को दिया पास

आदित्य ठाकरे के अनुरोध पर मुंबई पुलिस ने युवक को दिया पास

लॉकडाउन में अपने बेटे से नहीं मिल पाया था युवक

लॉकडाउन लागू होते ही जो जहां था, वहीं फंस के रह गया। आपातकालीन वाहनों को छोड़कर अन्य किसी वाहन को चलाने की अनुमति नहीं दी गई थी। अतः मुंबई में अपने परिजनों से मिलने के लिए कई लोग पुलिस स्टेशन पास बनवाने के लिए जाने लगे। लेकिन पास केवल आपातकालीन परिस्थितियों में दिया जा रहा था। मुंबई के अंधेरी में रहनेवाले अभिषेक पोरवाल का ढाई वर्षीय बेटा लॉकडाउन में अमदाबाद में फंस गया था। बच्चे को मुंबई वापस लाने के लिए उन्होंने आदित्य ठाकरे से मदद की गुहार लगाई। आदित्य ठाकरे ने तुरंत मदद करने का आश्वासन दिया। इसके बाद मुंबई पुलिस की तरफ से उन्हें अमदाबाद जाने के लिए पास भी मिल गया।
दरअसल, गुरुवार को अभिषेक ने ट्वीटर के माध्यम से ट्वीट कर लिखा कि लॉकडाउन के कारण पिछले 2 महीने से उनका ढाई वर्षीय बच्चा अमदाबाद में अपनी नानी के पास फंसा हुआ है। बच्चे ने किसी तरह दो महीने बिना मां के गुजरा कर लिया लेकिन अभी वह लगातार अपनी मां के बारे में पूछ रहा है। उनकी पत्नी भी बच्चे से जल्द-से-जल्द मिलना चाहती है। क्योंकि अनलॉक-1 की शुरुआत की हो गई है, तो उन्हें अपने निजी वाहन से अमदाबाद जाने की इजाजत दी जाए, ताकि बच्चे को सुरक्षित घर लाया जा सके। उन्होंने आगे लिखा कि कोरोना के प्रकोप के चलते फ्लाइट या ट्रेन से जाना खतरे का कारण हो सकता है इसीलिए उन्हें निजी वाहन से जाने की इजाजत दी जाए। अभिषेक ने ई-पास ऑनलाइन के जरिए पाने की कोशिश की लेकिन तकनीकी दिक्कतों की वजह से पास नहीं मिल पाया। उन्होंने आदित्य ठाकरे एवं अन्य लोगों को टैग कर लिखा कि उन्हें यात्रा करने के लिए पास दिया जाए। इसके बाद आदित्य ठाकरे ने तुरंत मुंबई पुलिस को अभिषेक की मदद करने के लिए कहा। शुक्रवार दोपहर को उन्होंने फिर से ट्वीट कर जानकारी दी कि मुंबई पुलिस की तरफ से उन्हें अमदाबाद जाने के लिए पास दे दिया गया है। उन्होंने आदित्य ठाकरे को आभार जताया। उन्होंने कहा कि वे शनिवार को अमदाबाद जाएंगे और अपने बच्चे को नानी के पास से घर लाएंगे।