" /> कोरोना विघ्न से बचो!, गणेश मंडल रहें सतर्क, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग से कोकण का लिया जायजा

कोरोना विघ्न से बचो!, गणेश मंडल रहें सतर्क, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग से कोकण का लिया जायजा

कोंकण में ग्राम सतर्कता समिति और गणेश मंडलों से सरकार बहुत सहयोग की उम्मीद करती है। संबंधित गांवों में गणेशोत्सव सुरक्षित और स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए संपन्न करो। इस दौरान कोरोना विघ्न से बचो! ऐसा विश्वास मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने व्यक्त किया। रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग जिला कलेक्टरों के साथ हुई कोरोना उपायों की समीक्षा बैठक में कल मुख्यमंत्री ने उक्त बातें कहीं।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि गणेशोत्सव के दौरान मुंबई क्षेत्र से कई लाख लोग, विशेष रूप से रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग जिले में अपने घर उत्सव मनाने जाते हैं। कोरोना का संसर्ग शहरी भागों में अधिक दिखाई दे रहा है, उसी तरह ग्रामीण भागों में दिखाई देने लगा है। मुंबई के पास रायगढ़ जिले में कोरोना बढ़ रहा है, उसकी तुलना में रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग जिले में कोरोना का प्रकोप नहीं है। फिर भी गणेशोत्सव के दौरान नागरिकों की होनेवाली भीड़ के मद्देनजर प्रशासन को बहुत सावधान और सतर्क रहने का निर्देश मुख्यमंत्री ने दिया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के गृह विभाग ने समग्र सार्वजनिक गणेशोत्सव के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। उनका कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए। मुंबई में हमने बड़े गणेश मंडलों से बात की और सर्वसम्मति से इस साल के उत्सव को मनाने के लिए कुछ नियम तय किए हैं। कोंकण में भी इसका पालन करना बहुत आवश्यक है। इस अवधि के दौरान प्रशासन को अधिक सतर्क रहना चाहिए। पर्याप्त पुलिस बंदोबस्त और जो स्वास्थ्य कर्मी रहते हैं, उनकी देखभाल को सुनिश्चित किया जाना चाहिए। गणेश मंडल अपने-अपने गांवों में स्वास्थ्य शिविर भी आयोजित करें, उत्सव का स्वरूप एकदम सादा रखें, भीड़ से बचें, मास्क पहनें और सोशल डिस्टेंसिग के नियमों का कड़ाई से पालन करें, ताकि कोरोना का संसर्ग आपके क्षेत्र में न फैले, ऐसा मुख्यमंत्री ने कहा।

बेड्स, एंबुलेंस तैयार रखें
रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग के लिए परीक्षण प्रयोगशाला शुरू की गई है। रायगढ़ के लिए जल्द-से-जल्द कार्यान्वित की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह देखना आवश्यक है कि क्या इनकी क्षमता बढ़ाई जा सकती है और इन जिलों में आइसोलेशन बेड और अन्य चिकित्सा सुविधाओं की संख्या में भी जल्द-से-जल्द इजाफा किया जा सकता है। गांवों की सतर्कता समितियों को नियमित रूप से जांच करनी चाहिए कि क्या सभी ग्रामीण कोरोना के संबंध में सभी नियमों और स्वच्छता का पालन कर रहे हैं? इसी प्रकार सार्वजनिक जागरूकता अभियान चलाना होगा। सभी दलों के नेताओं को भी इस उत्सव के अवसर पर सरकार के साथ सहयोग करना चाहिए और कोंकण के लोगों से कानून-व्यवस्था बनाए रखने की अपील करनी चाहिए, ऐसा मुख्यमंत्री ने कहा।
१५ अगस्त को शुरू होगी प्रयोगशाला
रायगढ़ जिलाधिकारी निधि चौधरी ने इस मौके पर कहा कि वर्तमान में ३,५०० रोगी उपचार ले रहे हैं। १,९०० नागरिकों को घर पर आइसोलेशन किया गया है। पिछले कुछ दिनों में दक्षिण रायगढ़ क्षेत्र में कोरोना की संख्या में वृद्धि हुई है। औद्योगिक श्रमिकों में कई रोगी पाए गए हैं। ऐसी ही स्थिति पनवेल, महाड में भी है। आइसोलेशन के लिए १० इमारतों का अधिग्रहण किया गया है और हम ५,५०० आइसोलेशन बेड उपलब्ध करा रहे हैं।