" /> रेडजोन में रहा “बस्ती” कोरोनामुक्त होने की राह पर!

रेडजोन में रहा “बस्ती” कोरोनामुक्त होने की राह पर!

देशभर में बढ़ते कोरोना के खतरे के बीच यूपी के बस्ती जिले से बड़ी राहत की खबर आई है। जिले में कोरोनाग्रस्त रोगियों का आंकड़ा 31 तक पहुंच चुका था। यूपी में कोरोना से होनेवाली मौत का खाता भी यहीं से खुला था। लेकिन अब बस्ती में मात्र 6 कोरोना सक्रिय मामले रह गये हैं। यह वह मामले हैं जो 5 दिन पहले मुंबई से आये युवकों का जत्था मिला था। अभी इनका 14 दिन पूरा नहीं हुआ है। 14 दिन बाद यदि इनकी रिपोर्ट निगेटिव आ गयी और जिले में इस बीच कोई नया केस नहीं मिला तो बस्ती रेडजोन में पहुंचने के बाद भी कोरोना पर विजय प्राप्त करनेवाला जिला बनेगा।

इस संदर्भ में सपरिवार कोरोना रोगियों और समाज मे कोरोना की जागरूकता के लिये दिन-रात जूझ रहे रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव कुलवेंद्र सिंह ने बताया कि जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने जिले में लॉकडाउन को सख्ती से लागू कराया, जिसके कारण यह सफलता संभव हुई। उनके कुशल नेतृत्व में कोरोना की जंग में जो भरपूर सफलता मिल रही है, इसके पीछे उनका रात-दिन खुद का चलना है। जिसके कारण जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था भी सजग है, यहां की सामाजिक संस्थाओं ने भी उनके कदम से कदम मिलाकर चलने की पूरी कोशिश की है।

बस्ती के मुख्यचिकित्सा अधिकारी डॉ. जे.पी. त्रिपाठी ने बताया कि कल शाम 10 लोगों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आयी थी। उन्हें आज छुट्टी दे दी गयी। अब बस्ती में कोरोना संक्रमित रोगियों की कुल संख्या 6 रह गयी है। संभावना व्यक्त की जा रही थी कि अब जिले में छूट का दायरा बढ़या जा सकता है और लोगों को और भी सहूलियतें मिलेंगी। लेकिन जब जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन से ‘दोकासा’ की बात हुई तो उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता छूट से पहले इस वायरस पर रोक लगाना है। किसी भी कीमत पर हम इसको फैलने से रोकने के लिये प्रतिबद्ध हैं। साथ ही कोरोनाग्रस्त रोगियों को ठीक कर सकुशल उनके घर भेजना है।