विघ्नहर्ता के आगमन से पहले, टला मध्य रेलवे का ‘विघ्न’, छाता दिखाकर टाला खतरा

आज से विघ्नहर्ता का पर्व शुरू हो रहा है लेकिन इससे एक दिन पहले ही रविवार को मध्य रेलवे पर आनेवाला एक बड़ा ‘विघ्न’ टल गया। भांडुप और कांजुरमार्ग स्टेशन के बीच डाउन थ्रू लाइन पर करीब डेढ़ फुट लंबा पटरी का हिस्सा गायब मिला। सूत्रों के अनुसार पटरी के किनारे सब्जियां उगानेवाले एक व्यक्ति ने छाता दिखाकर मोटरमैन को इस घटना की जानकारी दी। रेलवे के अनुसार उस ट्रैक से गुजरी एक ट्रेन को झटका महसूस होने के बाद कंट्रोल रूम को सूचित किया गया।
रेलवे से प्राप्त जानकारी के अनुसार सुबह ८.३६ बजे बीएल-५ लोकल के गार्ड पी.डी.चावड़ा ने मोटरमैन डी.एल. पवार को भांडुप-कांजुरमार्ग की डाउन थ्रू लाइन पर ट्रेन निकलने के दौरान २५/१२ किमी पर जोर का झटका लगने की सूचना दी। इस संदेश को कंट्रोल रूम में भेजा गया।
बीएल-५ ट्रेन गुजरने के थोड़ी देर बाद उसी ट्रैक पर सीएसएमटी से ठाणे लोकल आ रही थी। ट्रेन के मोटरमैन ए.एस. राजपूत ने रेलवे को बताया कि एक आदमी छतरी दिखाकर उन्हें अलर्ट कर रहा था। खतरे का संकेत पाकर मोटरमैन ने ट्रेन रोक दी। अलर्ट करनेवाले व्यक्ति का नाम दर्शन सिंह बताया जा रहा है। ठाणे लोकल के मोटरमैन ने बताया कि ट्रेन रोकने के बाद घटनास्थल पर एक से डेढ़ फुट तक पटरी का हिस्सा गायब मिला।
डेढ़ घंटे थमी लोकल
ट्रेन रोकने के बाद कंट्रोल को दोबारा सूचित किया गया। घटनास्थल पर पहुंचे कर्मचारियों ने पटरी के क्षतिग्रस्त हिस्से की मरम्मत की। करीब डेढ़ घंटे बाद ट्रैक को सुरक्षित घोषित कर ट्रैक पर खड़ी ठाणे लोकल को रवाना किया गया। सुबह ट्रेन लेट होने का यह असर शाम तक रहा। इस मामले में मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी शिवाजी सुतार ने बताया कि कंट्रोल रूम में सूचना मिलने के थोड़ी देर बाद ही मरम्मत का काम शुरू कर दिया गया था। पटरी का हिस्सा वैâसे क्षतिग्रस्त हुआ? इसकी जांच की जाएगी। खतरा टालनेवाली टीम को सम्मानित किया जाएगा।