" /> यूपी में अपराधी हुए बेलगाम…. कुल्हाड़ी से हमला कर लहूलुहान पत्रकार से बोला हिस्ट्रीशीटर ‘..काट डालूंगा !’

यूपी में अपराधी हुए बेलगाम…. कुल्हाड़ी से हमला कर लहूलुहान पत्रकार से बोला हिस्ट्रीशीटर ‘..काट डालूंगा !’

• लखनऊ निवासी वरिष्ठ पत्रकार पर  पैतृक गांव में जानलेवा हमला, हुए लहूलुहान
•हिस्ट्रीशीटर सहित चार लोगों पर एफआईआर, ४८ घंटे बाद भी नहीं हुई गिरफ्तारी

यूपी में अपराध और अपराधी इस कदर बेलगाम हैं कि पत्रकारों भी अब निशाने पर हैं। माह भर पहले जिस सुल्तानपुर जिले में एक पत्रकार की बेटी को दबंगों ने दिनदहाड़े जिंदा जला दिया था, उसी जिले में शुक्रवार को एक और दुस्साहसिक वारदात ने प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिये हैं। लखनऊ निवासी वरिष्ठ पत्रकार जब अपने पैतृक गांव आए हुए थे तभी उनपर एक दबंग हिस्ट्रीशीटर ने साथियों के साथ सरेआम कुल्हाड़ी से जानलेवा हमला बोल दिया। लहूलुहान पत्रकार को बीचबचाव कर लोगों ने बचाया लेकिन   गुस्से में उबल रहे हमलावर ने धमकाया कि ‘..आज नहीं तो कल , इसी कुल्हाड़ी से काट डालूंगा ! ‘ फिलहाल पुलिस ने प्रकरण को ज्यादा गंभीर न मानते हुए तहरीर के विपरीत हल्की धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली है। .. ४८ घंटे बीतने वाले हैं अभी तक हमलावर खुलेआम घूम रहे हैं।

कादीपुर कोतवाली क्षेत्रांतर्गत कटसारी गांव निवासी अरुण सिंह (५४) वरिष्ठ पत्रकार होने के साथ साथ लखनऊ से प्रकाशित होने वाली पत्रिका ‘इंडिया इनसाइड’ के संपादक भी हैं। इनदिनों वे अपने गांव आए हुए हैं। शुक्रवार को सुबह करीब साढ़े दस बजे वे कादीपुर टाउन एरिया के निरालानगर स्थित अपने मकान के सामने खड़े थे। तभी हिस्ट्रीशीटर मधुर अपने साथी राजकुमार व दो अन्य के साथ कुल्हाड़ी-डंडे से लैस होकर अचानक आ पहुंचा और सिंह पर हमला कर बैठा। हमलावरों की गर्दन पर वार की कोशिश से उन्हीने बचने की कोशिश की लेकिन मुंह और नाक पर गंभीर वार से वे खून से लथपथ हो उठे। आसपास के लोग दौड़े और किसी तरह उन्हें बचाया लेकिन गुस्से में आगबबूला हिस्ट्रीशीटर ने सरेआम धमकाया- ‘आज बच गए आगे नहीं बचोगे !’ इस दुस्साहसिक वारदात ने यूपी के पत्रकारजगत को सन्न कर दिया है। यूपी जर्नलिस्ट एसोसिएशन की सुल्तानपुर इकाई अध्यक्ष डॉ आरके सिंह व सचिव विवेक बरनवाल ने सीएम योगी व डीजीपी से प्रकरण में आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है। उधर, एसपी सुल्तानपुर ने ‘ट्विटर’ पर प्रकरण के बाबत आश्वासन दिया है कि वादी की तहरीर के यथोचित कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है।