बेस्ट इज बेस्ट! बेस्ट बस का किराया हुआ कम, ट्रेन और टैक्सी का बढ़ सकता है

सामना संवाददाता / मुंबई
किफायती किराए पर यात्रियों को उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचानेवाली बेस्ट बस एक बार फिर मुंबईकरों के लिए बेस्ट साबित हुई है। बेस्ट बस ने अपना न्यूनतम किराया ८ रुपए से घटाकर ५ रुपए कर दिया है। किराया कम किए जाने से बेस्ट बस से सफर करनेवाले यात्रियों ने राहत की सांस ली है। बेस्ट ने यात्री किराया घटाकर मुंबईकरों पर पड़नेवाले किराए के अतिरिक्त बोझ को तो कम कर दिया है लेकिन इन दिनों रेलवे और टैक्सी युनियन जिस तरह से किराए बढ़ाने की जद्दोजहद में लगी हैं यदि वे इसमें कामयाब हो ती हैं तो आनेवाले दिनों में ट्रेन और टैक्सी का किराया बढ़ सकता है।
मुंबईकरों के बीच बेस्ट बस हमेशा से ही बेस्ट सुविधा देकर यात्रियों के बीच राज करती रही है। एक बार फिर बेस्ट ने किराया घटाकर यात्रियों के दिलों पर राज किया है। बेस्ट ५ किमी के लिए यात्रियों से पहले ८ रुपए किराया वसूलती थी जिसे घटाकर बेस्ट ने अब बस का न्यूनतम किराया ५ रुपए कर दिया है। वहीं इसी कड़ी में बेस्ट ने अपने वातानुकूलित बस का ५ किमी का न्यूनतम किराया घटाकर ६ रुपए कर दिया है। जिससे मुंबईकरों पर किराए का बोझ कम हुआ है। यात्रियों  को ‘बेस्ट’ बस की बेस्ट सेवा मिले और बस के इंतजार में लंबा समय न गंवाना पड़े इसलिए बेस्ट बसों की संख्या ७ हजार करने की तैयारी कर रही है। हाल ही में मनपा आयुक्त प्रवीण परदेशी ने बेस्ट की बसों की संख्या ७ हजार करने का  निर्देश दिया है। फिलहाल बेस्ट प्रशासन ने ५३० बसों के लिए प्रक्रिया पूरी कर ली है, जबकि १ हजार नई बसों के लिए जल्द ही निविदा जारी की जाएगी। जहां तक बात टैक्सी और ट्रेन के किराया बढ़ोत्तरी की है तो मुंबई की लाइफ लाइन कही जानेवाली लोकल ट्रेन का किराया भी महंगा होनेवाला है। रेलवे सेकंड और फर्स्ट क्लास के टिकट के दामों में २५ फीसदी की वृद्धि करने की योजना बना रही है जबकि एसी लोकल के किराए का १८ फीसदी बढ़ाने पर विचार कर रही है। वहीं काली-पीली टैक्सी का प्रतिनिधित्व करनेवाली मुंबई टैक्सी मेन्स युनियम टैक्सी का न्यूनतम किराया २२ रुपए से बढ़ाकर २५ रुपए करने की मांग कर रही है। यदि सरकार रेलवे और टैक्सी के किराए में वृद्धि करती है तो आनेवाले दिनों में ट्रेन और टैक्सी का किराया भी बढ़ सकता है। बेस्ट बस से सफर करनेवाली मनीषा कांबले ने बताया कि सस्ती यातायात सेवा देने के मामले में लोकल ट्रेन के बाद बेस्ट की बस का ही नंबर रहा है। बेस्ट ने किराया कम कर काफी हद तक यात्रियों पर से किराए का बोझ कम किया है। वहीं शैला माने का कहना है कि बेस्ट और भी बसें खरीदने की योजना बना रही है। बस का किराया कम होने पर यात्रियों का रुझान बेस्ट बस की ओर बढ़ेगा और बेस्ट की कमाई बढ़ेगी। बेस्ट की इस पहल से टैक्सी और रेल दोनों पर प्रभाव पड़ेगा।