" /> सोशल मीडिया से सावधान!, कहीं जंजाल न बन जाए `कपल चैलेंज’

सोशल मीडिया से सावधान!, कहीं जंजाल न बन जाए `कपल चैलेंज’

सोशल मीडिया में अपनी तस्वीरें एवं जानकारी साझा करना कुछ लोगों का शौक बन चुका है। लेकिन ये शौक अब जंजाल बन सकता है। सोशल नेटवर्विंâग साइट फेसबुक पर कपल चैलेंज, साड़ी चैलेंज के मामलों में ऐसा ही देखने को मिल रहा है। साइबर अपराधी आपकी तस्वीरों एवं जानकारी का दुरुपयोग आपको बदनाम या ब्लैकमेल करने के लिए कर सकते हैं। ऐसा दुनियाभर के साइबर का दावा है।
बता दें कि फेसबुक पर इन दिनों ‘कपल चैलेंज’ अभियान की धूम मची है। जिसमें कि लोग अपना और अपने पत्नी या प्रेमिका या सहयोगी का फोटो पोस्ट कर रहे हैं लेकिन यह पोस्ट करना उनके लिए काफी नुकसानदायक हो सकता है। आशंका है कि इस प्रकार के पोस्ट किए गए फोटो का दुरुपयोग हो सकता है। किसी के चेहरे को मॉर्फ करके अन्य किसी का फोटो चिपकाया जा सकता है। फेसबुक में इस प्रकार की चैलेंज से भ्रमित होकर लोग कपल के फोटो या अपने पर्सनल फोटो भी अपलोड कर रहे हैं। पुणे की मोरबी पुलिस ने लोगों से अपील की है कि यदि उन्होंने फोटो अपलोड किए हैं तो उन्हें तुरंत ही डिलीट कर देना चाहिए। साइबर क्राइम के नियमों को संपूर्ण तौर से समझे-बूझे बिना सोशल मीडिया का उपयोग करना नुकसानदायक है और लोग इस तरह से धोखाधड़ी का शिकार बन सकते हैं। लोगों को एक बार इससे होने वाले नुकसान और लाभ को ध्यान में रखते हुए कदम उठाना चाहिए। इसी तरह पुणे पुलिस ने भी फेसबुक यूजर्स को कपल चैलेंज के खतरों के प्रति आगाह किया है। इसके लिये पुलिस ने बाकायदा ट्वीट करके सचेत किया है कि सोशल मीडिया पर इस प्रकार शेयर किये गये फोटो का उपयोग साइबर क्राइम के लिये किया जा सकता है। इन तस्वीरों का इस्तेमाल `रिवेंज पॉर्न’, मॉर्फिंग और अन्य साइबर क्राइम जैसे कि ब्लैकमेलिंग, वैâटफिशिंग, पोर्नोग्राफी या चरित्र हत्या के लिए हो सकता है।’ ब्रिटेन में सरकार की ओर से चलाए जा रहे हेल्पलाइन पर करीब २,०५० शिकायतें आ चुकी हैं। पिछले साल की तुलना में इसकी संख्या में २२ फीसदी बढ़ोत्तरी दर्ज हुई है। चैरिटी `रिफ्यूज’ के हालिया शोध में पाया गया है कि हर सात में से एक नौजवान महिला को इस बात की धमकी मिली है कि उसकी अंतरंग तस्वीर बिना उनकी सहमति के शेयर कर दी जाएगी। गौरतलब हो कि बदले की भावना से किसी को बदनाम करने की प्रवृत्ति इन दिनों लोगों में कुछ ज्यादा ही बढ़ गई है। खासकर एक्स प्रेमी या प्रेमिका से बदला लेने के लिए ऐसा होता रहा है, जिसे रिवेंज पोर्न का नाम दिया गया है। लेकिन अब साइबर अपराधी भी सोशल मीडिया से दूसरों की तस्वीर चुरा कर उन तस्वीरों को मॉर्फ करके लोगों को ब्लैकमेल कर रहे हैं। इंटरनेट पर डीप न्यूड नामक वेबसाइट के कई संस्करण मौजूद हैं, जिससे किसी महिला या पुरुष की कपड़ोंवाली तस्वीरों से छेड़छाड़ की जा सकती है। डीप न्यूड वेबसाइट को एक वैâमरा ऐप के रूप में जाना जाता है, जिसमें कपड़े के आरपार देखने के लिए एक्स-रे सुविधा होती है। इससे सेकंड के भीतर किसी भी अपलोड की गई तस्वीर का नग्न संस्करण तैयार कर सकते हैं।