" /> कोरोना की जंग में ‘भारत मर्चेंट चेंबर’ ने बढ़ाए अस्पतालों को मदद के हाथ

कोरोना की जंग में ‘भारत मर्चेंट चेंबर’ ने बढ़ाए अस्पतालों को मदद के हाथ

मुंबई में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। कोरोना की जंग में कई सामाजिक संस्था लगी हुई है। इसी कड़ी में कपड़ा उद्योग की जानी-मानी संस्था भारत मर्चेंट चेंबर ने भी मोर्चा संभाल लिया हैं। चेंबर के ट्रस्टी राजीव सिंघल इन दिनों शहर के विभिन्न अस्पतालों और विभिन्न जोन के पुलिस स्टेशनों को चिकित्सा उपकरणों के साथ साथ अन्य जरूरी सामान उपलब्ध करा रहे हैं।

भारत मर्चेट चेंबर के ट्रस्टी राजीव सिंघल इन दिनों वह सभी जरूरी सामान शहर के अस्पताल और पुलिस स्टेशन को उपलब्ध करा रहे हैं, जो कोरोना से लड़ने की जंग में डॉक्टरों और पुलिस वालों के लिए उपयोगी हैं। सिंघल द्वारा की जा रही मदद की शहर के कई अस्पताल और पुलिस प्रसाशन सराहना भी कर रहे हैं। सिंघल अब तक चेंबर की तरफ से 40 लाख रुपए से अधिक का सामान अस्पताल और पुलिस प्रसाशन को पहुंचा चुके हैं, जिसमें 20 हजार हैंड ग्लोव्स, 30 हजार फेस मास्क, 125 इंफ्रा रेड थर्मामीटर, 1000 पीपीई किट, 400 लीटर सेनिटाइजर, 5 हजार मल्टी विटामिन 10 स्ट्रिप की गोलियां, 300 फोर लेयर का मास्क, 125 हॉट वाटर डिस्पेंसर मशीन का वितरण किया हैं। इतना ही नहीं कल उन्होंने जे जे ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल को 40 लीटर सेनिटाइजर, 30 नग पल्स ऑक्सीमेटर, 3500 नग हैंड ग्लोव्स, 2 हजार फेस शील्ड उपलब्ध करवाई। राजीव सिंघल ने बताया कि जब उन्होंने कई अस्पतालों का निरीक्षण किया तो उन्होंने पाया कि कोरोना की जांच के लिए डॉक्टरों के पास इंफ्रा रेड थर्मामीटर नहीं थे। ऐसे में उन्होंने खुद चेंबर की ओर से इंफ्रा रेड थर्मामीटर खरीद के दिए। इसके अलावा अस्पताल के डॉक्टर और नर्सो को ईलाज के दौरान जिन जिन जरूरी वस्तुओं की कमी हो रही थी। उन्होंने मुहैया कराई। उन्होंने बताया कि विजय लोहिया, योगेंद्र राजपुरिया, विनोद गुप्ता, निलेश वैश्य, रमन गुप्ता ने इस कार्य मे बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।अस्पतालों को जरूरत पड़ने पर चेंबर की ओर से और भी मदद का सिलसिला जारी रहेगा।