एंबुलेंस पर रजिस्ट्रेशन का ब्रेक, एक माह से खा रही धूल

मीरा-भाइंदर महानगरपालिका द्वारा एक माह पूर्व एक शववाहिनी और दो रुग्णवाहिनी के रूप में ३ एंबुलेंस की खरीदी की गई थी। तीनों एंबुलेंस प्रादेशिक परिवहन विभाग (आरटीओ) की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया में अटक कर भाइंदर-पश्चिम के भारतरत्न स्व. पं. भीमसेन जोशी (टेंबा) अस्पताल में खड़ी- खड़ी धूल खा रही हैं।
मीरा-भाइंदर शहर की बढ़ती जनसंख्या के साथ-साथ विभिन्न रोगों से ग्रसित मरीजों की संख्या में भी दिनों-दिन वृद्धि हो रही है। उनकी सुविधा के लिए मनपा के पास ७ रुग्णवाहिनी, ३ शववाहिनी, १ कार्डियक वैन और एक चलता-फिरता दवाखाना मौजूद है। इनमें से कुछ एंबुलेंस सतत खराब रहने के कारण मनपा के आर्थिक बजट में वैद्यकीय और स्वास्थ्य सेवा के लिए समावेश किए गए ४० लाख रुपए की निधि में से करीब ३३ लाख रुपए खर्च कर एक माह पूर्व १ शववाहिनी और २ रुग्ण वाहिनी टाटा कंपनी से राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त ई मार्वेâट प्लेस संकेतस्थल से ऑनलाइन खरीदी गई थी।
इस विषय में वाहन विभाग के अधिकारी नरेंद्र पाटील का कहना है कि हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में कर्मचारियों की व्यस्तता के कारण रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया में देरी हुई है। आगामी कुछ दिनों में प्रादेशिक परिवहन विभाग में रजिस्ट्रेशन कराकर इन एंबुलेंसों को लोगों की सुविधा के लिए मनपा सेवा में शामिल कर लिया जाएगा।