" /> बाहरी लोगों के सहारे भाजपा!… एक पैर से बंगाल, दो पैर से जीतूंगी दिल्ली

बाहरी लोगों के सहारे भाजपा!… एक पैर से बंगाल, दो पैर से जीतूंगी दिल्ली

ममता ने दिखाया दम

पश्चिम बंगाल में चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे भाजपा बाहरी लोगों का जमावड़ा बंगाल में कराने में जुटी है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपने बयान में पहले ही आशंका जता चुकी हैं कि भाजपा बाहर से गुंडे लाकर अशांति पैâलाना चाहती है। कूच बिहार इलाके में ममता ने कहा भाजपा बंगाल पर कब्जा करने के लिए बाहर से लाखों गुंडे लेकर आई है लेकिन ये आसान नहीं है। पहले दिल्ली के बारे में सोचो फिर बंगाल के बारे में। इससे पहले ममता ने हुगली के देबानंदपुर में कहा था कि वह एक पैर से बंगाल जीतेंगी और भविष्य में दोनों पैरों से दिल्ली जीतेंगी। दरअसल हाल ही में ममता बनर्जी ने सभी विपक्षी पार्टियों को लेटर लिख एकजुट होने के लिए कहा था। उन्होंने राष्ट्रीय स्तर के गैर भाजपा नेताओं को पत्र लिखकर केंद्र की भाजपा सरकार की कथित जनविरोधी नीतियों के खिलाफ एकजुट होकर संयुक्त रूप से लड़ने का आह्वान किया। बनर्जी ने सोनिया गांधी, शरद पवार, एमके स्टालिन, अखिलेश यादव, तेजस्वी यादव, उद्धव ठाकरे, हेमंत सोरेन, अरविंद केजरीवाल, नवीन पटनायक, जगन रेड्डी, केएस रेड्डी, फारूक अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती और दीपांकर भट्टाचार्य को पत्र लिखकर समर्थन मांगा है। ममता बनर्जी ने कहा कि मैं नंदीग्राम जीत रही हूं। यहां मुझे कोई हरा नहीं सकता। याद दिला दें कि १० मार्च को नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान ममता बनर्जी को चोट लग गई थी। इस चोट को ममता बनर्जी ने हमला करार देते हुए षड्यंत्र की तरफ इशारा किया था।

भाजपा नेता पर फेंके गए पत्थर
भाजपा नेता और बिहार सरकार में मंत्री शाहनवाज हुसैन ने दावा किया कि जब वह पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए हावड़ा में प्रचार कर रहे थे तब उन पर पत्थर फेंके गए। हुसैन ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो साझा किया जिसमें वह ड्यूटी पर तैनात अधिकारी को दो पत्थर दिखा रहे हैं और कथित घटना के लिए तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। शाहनवाज हुसैन ने बुधवार को आरोप लगाते हुए कहा कि टीएमसी के गुंडे मुझे रैली आयोजित नहीं करने देना चाहते थे इसलिए उन्होंने पथराव किया।