" /> बीकेसी ग्राउंड में तैयार 1,008 बेड का अस्पताल!

बीकेसी ग्राउंड में तैयार 1,008 बेड का अस्पताल!

शनिवार को बीएमसी को सौंपा जाएगा
एमएमआरडीए ग्राउंड में बनेगा दूसरा ओपन अस्पताल
सेमी क्रिटिकल कोरोना पॉजिटिव रोगियों के लिए देश का पहला 1,008 बेड का ओपन अस्पताल तैयार हो गया है, इसे शनिवार को बीएमसी को सौंपने की तैयारी की जा रही है। एमएमआरडीए आयुक्त आरए राजीव ने कहा है कि इसके अलावा राज्य सरकार ने हमें एक हजार बेड का अस्पताल और बनाने को कहा है। इस अस्पताल के तैयार होने के बाद हम उस पर भी काम करेंगे। सूत्रों की मानें तो नया बननेवाला अस्पताल क्रिटिकल मरीजों के लिए भी बनाया जाएगा, जिसमें आईसीयू की सुविधा होगी।
गौरतलब है कि मुंबई में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 16 हजार के पार पहुंच गई है। रोज लगभग 500 से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एमएमआरडीए से अनुरोध किया था कि कोरोना तैयारियों के तहत एक अस्पताल बनाया जाए। इसके बाद एमएमआरडीए ने बीकेसी मैदान में 1,008 बिस्तरोंवाला अस्पताल निर्धारित समय से पहले तैयार कर दिया है। एमएमआरडीए आयुक्त आरए राजीव ने कहा कि हमने 1,008 बेड का अस्पताल तैयार कर लिया है। इसमें 504 ऑक्सीजनवाले और 504 नॉन ऑक्सीजनवाले बेड तैयार हुए हैं। आगामी शनिवार को हम इसे बीएमसी को सौंपेंगे। राजीव ने बताया कि राज्य सरकार ने हमें एक हजार बेड का और अस्पताल तैयार करने को कहा है। राज्य सरकार जिस तरह की तैयारी करने को कहेगी, हम वैसा अस्पताल तैयार कर देंगे। राज्य सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि एमएमआरडीए मैदान मेें ही दूसरा अस्पताल बनाया जाएगा। यह क्रिटिकल मरीजों के लिए तैयार किया जाएगा। इसमें आईसीयू और वेंटिलेटर भी होगा। बीकेसी के मैदान में बने अस्पताल में मरीजों की जांच के लिए एक लैब भी तैयार किया गया है। एक्सरे और ईसीजी की सुविधा यहां भी उपलब्ध है।
होम क्वारंटाइन के लिए दिए 13,000 फ्लैट
एमएमआरडीए ने परियोजना प्रभावित लोगों के पुनर्वसन के लिए बनाए गए घर विविध महानगरपालिकाओं को क्वारंटाइन के लिए दिए हैं। एमएमआरडीए अधिकारी ने बताया कि हमने 13 हजार परियोजना पीडि़तों के लिए घर बनाए थे, जो लोगों को दिए नहीं गए थे। ऐसे में हमने विविध महानगरपालिकाओं को इन घरों को कोरोना बचाव के लिए उपयोग करने को दिए हैं।