" /> वुहान की तर्ज पर बीकेसी मैदान में बन रहा अस्पताल : 14 मई से पहले शुरू करने का लक्ष्य

वुहान की तर्ज पर बीकेसी मैदान में बन रहा अस्पताल : 14 मई से पहले शुरू करने का लक्ष्य

1000 बेड की क्षमता में 5000 बेड तक का हो सकेगा इजाफा
महाराष्ट्र सरकार कोरोना से निपटने के लिए पूरी तरह से कमर कसकर मैदान में उतर गई है। कोरोना से भविष्य में क्या क्या समस्याएं हो सकती है। इसके मद्देनजर सरकार पहले से ही तैयारी करके रख रही है। मुंबई में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को ध्यान में रखकर वुहान की तर्ज पर मुंबई के बीकेसी में सरकार कोरोना अस्पताल बना रही है। बताया जाता है कि इस अस्पताल की क्षमता 1000 की है लेकिन आवश्यकता पड़ने पर इसकी क्षमता को बढ़ाकर 5000 तक इजाफा किया जा सकता है।
देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में ही 14500 से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हैं। अब तक 528 लोगों की मौत हो चुकी है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग माध्यम से प्रधानमंत्री को राज्य सरकार की ओर से कोरोना से निपटने के लिए क्या-क्या तैयारी की जा रही है? उसकी विस्तृत जानकारी दी। मुंबई के बीकेसी मैदान में 28 अप्रैल से बनाए जा रहे अस्पताल को 15 दिन में (14 मई से पहले) चालू करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
गौरतलब है कि कोरोना के मरीजों और मौत के आंकड़े मुंबई में अधिक सामने आ रहे हैं। सरकारी और निजी अस्पताल मिलाकर कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए मुंबई में 3 हजार बेड हैं। अनुमान है कि मुंबई में कोरोना के केस मई में और अधिक बढ़ सकते हैं। इसे देखते हुए ही सरकार यह मेकशिफ्ट हॉस्पिटल बना रही है।