" /> बुलेट की नई गूगली… मुंबई- पुणे-नागपुर

बुलेट की नई गूगली… मुंबई- पुणे-नागपुर

देशभर में कोराना वायरस संकट के कारण भारतीय रेल की सबसे बड़ी परियोजनाओं में से एक बुलेट ट्रेन बूरी तरह से प्रभावित हुई है। हालांकि रेल अधिकारी दावा कर रहे हैं कि बुलेट ट्रेन में देरी नहीं होगी। अभी मुंबई-अमदाबाद रूट पर हाईस्‍पीड कॉरिडोर का निर्माण कार्य पूरा भी नहीं हो पाया है। इस बीच भारतीय रेलवे देशवासियों के समक्ष बुलेट ट्रेन की नई गुगली छोड़ रहा है। ७ और बुलेट ट्रेन की सौगात वाली इस नई गुगली में रेलवे बुलेट ट्रेन का अगला पड़ाव मुंबई-पुणे-नागपुर बता रही है। इसके लिए रेलवे के लिए नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया जमीन का अधिग्रहण करेगा।

बता दें कि रेलवे, हाई स्पीड और सेमी हाई स्पीड रेल कॉरिडोर के लिए ७ नए रूटों की पहचान का दावा कर रही है, जहां जल्द ही और बुलेट ट्रेनें चलाई जा सकती हैं। हाई स्पीड रेल रूट के साथ ही एक्सप्रेस-वे या हाइवे विकसित करने की भी योजना बनाई जा रही है। रिपोर्ट के मुताबिक इंफ्रा सेक्टर की ग्रुप की बैठक में यह पैâसला लिया गया है। हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा जमीन अधिग्रहण के लिए ४ सदस्यीय कमेटी का हुआ गठन जो इस प्रक्रिया को आगे ले जाएगी।

गौरतलब हो कि हाई स्पीड कॉरिडोर पर ट्रेन ३०० किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकती हैं जबकि सेमी हाई स्पीड
कॉरिडोर पर ट्रेनें १६० किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेंगी। रिपोर्ट्स के मुताबिक जिन ७ रूटों का चयन किया गया है, उसमें दिल्ली-नोएडा-आगरा-लखनऊ-वाराणसी (८६५किमी) और दिल्लीr-जयपुर-उदयपुर-अहमदाबाद (८८६किमी) शामिल हैं, वहीं दूसरे कॉरिडोर में मुंबई-नासिक-नागपुर (७५३ किमी), मुंबई-पुणे-हैदराबाद (७११किमी), चेन्नई-बंगलुरु-मैसूर (४३५ किमी) और दिल्ली-चंडीगढ़-लुधियाना-जालंधर-अमृतसर (४५९ किमी) को शामिल किया जाएगा। रेलवे के अनुसार कोरोना महामारी के बावजूद दिसंबर, २०२३ तक यह रूट बनकर तैयार हो जाएगा। इस रूट पर बुलेट ट्रेन ३२० किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेगी। अमदाबाद से मुंबई तक के सफर में करीब २ घंटे ७ मिनट का वक्त लगेगा। प्रॉजेक्ट में कुल दूरी करीब ५०८ किलोमीटर की है।