" /> शिलालेख

इतिहास मानव जीवन की प्रयोगशाला है!

हिंदुस्थान में इतिहास पर बहसें चलती हैं। यूरोपीय विद्वान हिंदुस्थान पर इतिहास की उपेक्षा का आरोप लगाते हैं। मैक्समूलर ने

Read more

हिंदू दर्शन का प्रवाह स्वागत योग्य है!

सांस्कृतिक प्रतीकों का आदर राष्ट्रवादी भावना है। हिंदुत्व हिंदुस्थान की राष्ट्रीयता है। लेकिन हिंदू सांप्रदायिकता, हिंदू कट्टरवाद, हिंदू फैक्टर और

Read more

शिलालेख – जगत पदार्थ नहीं, विचार है!

मनोनुकूल वक्तव्य प्रिय लगते हैं। प्रिय लगने का कारण मनोनुकूलता है। हम सब वरिष्ठों के भाषण या वक्तव्य सुनते हैं।

Read more

हिंदुस्थान के मन की सुंदर गतिविधि है अध्यात्म!

हिंदुस्थानी अध्यात्म आंतरिक आनंद है। आध्यात्मिक प्रभाव के कारण लोग गाते-बजाते नृत्य भी करते हैं। हिंदुस्थान के गांव-गांव में नृत्य

Read more

शुद्ध स्वीकार्य नहीं अशुद्ध प्रिय है!

आहार का अर्थ सामान्यत: भोजन होता है लेकिन इन्द्रियद्वारों से हमारे भीतर जाने वाले सभी प्रवाह आहार हैं। आहार व्यापक

Read more