" /> शिलालेख

परम तत्व सर्वत्र ज्योतिर्मय है!

भारतीय अनुभूति में अनेक देवता हैं। सभी देव शक्तियां दिव्य हैं और दिव्यता प्रकाश है। परम तत्व सर्वत्र ज्योतिर्मय प्रकाशरूपा

Read more

स्वयं द्वारा स्वयं को पढ़ना आवश्यक!

विश्व की सभी सभ्यताओं में पुस्तकों का आदर किया जाता है। पुस्तकों में वर्णित जानकारियां लेखक के कौशल से सार्वजनिक

Read more