विश्वदर्शन के जन्म की मुख्य भूमि है भारत

पदार्थ ज्ञान प्रत्यक्ष है तो भी पदार्थ जगत् का बहुत कुछ जानकारी से बाहर है। लेकिन अनुभूति व्यक्तिगत है। अनुभूत

Read more

सोशल मीडिया में सत्य, शिव और सुंदर

अभिव्यक्ति हरेक व्यक्ति की स्वाभाविक अभिलाषा है। हम स्वयं को भिन्न-भिन्न आयामों में प्रकट करते हैं। अपने बाल काटने का

Read more

ब्रह्म प्राप्ति का आनंद सर्वोत्तम

ज्ञान अतृप्ति का अपना आनंद है। उपनिषद् साहित्य में इसीलिए प्रश्न और प्रतिप्रश्न हैं। प्रश्नों की इसी परंपरा के कारण

Read more