" /> मध्य रेलवे ने 30 दिन में की 70,374 वैगन माल लदाई

मध्य रेलवे ने 30 दिन में की 70,374 वैगन माल लदाई

चलाए 1415 मालगाड़ी
कोरोना वायरस के कारण भारतीय रेलवे ने लॉक डाउन कर सभी मेल एक्सप्रेस ट्रेनों के परिचालन को रद्द कर दिया है और इस दौरान जीवन उपयोगी वस्तुएं जैसे दवाईयां,सब्जियां और खाद्यान्न, बिजली उत्पादन के लिए कोयला आदि को देश के विभिन्न क्षेत्रों में पहुंचाने के लिए माल गाड़ियां और पार्सल गाड़ियों का परिचालन काफी तेजी से कर रही है। मध्य रेलवे से प्राप्त जानकारी के अनुसार मध्य रेलवे ने एक महीने में 1415 रेक में 70,374 वैगन माल का परिवहन किया है।

जानकारी के मुताबिक मध्य रेल के मुंबई, नागपुर, भुसावल, सोलापुर और पुणे मंडल से प्रतिदिन लोडिंग – अनलोडिंग के लिए विभिन्न टर्मिनलों पर लगभग 75 रेकों को हैंडल किया जा रहा है, जिसमें आवश्यक वस्तुएं जैसे खाद्यान्न, बिजली उत्पादन के लिए कोयला और सीमेंट जैसे अन्य सामान शामिल हैं। 24/7 आधार पर काम करने वाले विभिन्न गुड्स शेड, स्टेशनों और कंट्रोल ऑफिस के रेलवे कर्मचारियों ने 23 मार्च 2020 से 22 अप्रैल 2020 तक 1,415 रेक में आवश्यक वस्तुओं को 70,374 वैगनों में जीवनावश्यक वस्तुओं को लोड किया है। 252 वैगनों में खाद्यान्न, 484 वैगनों में चीनी, 34,497 वैगनों में कोयला, 25,380 वैगनों में कंटेनर, 5,183 वैगनों में पेट्रोलियम उत्पाद, 1,802 वैगनों में उर्वरक, 635 वैगनों में स्टील, 252 वैगनों में डी-ऑइल केक, 117 में सीमेंट 1,772 वैगनों में विविध चीजों को मुंबई, नागपुर, भुसावल, सोलापुर और पुणे मंडल पर लोड किया गया है।इसके साथ ही, लगभग 220 समयबद्ध पार्सल गाड़ियों का संचालन किया जा रहा है, जिसमें देश भर में आवश्यक वस्तुओं जैसे दवाइयां, सब्जियां, खराब होने वाली वस्तुएं, डाक बैग आदि का परिवहन किया जा रहा है। मध्य रेलवे द्वारा 21 अप्रैल तक 2000 टन से अधिक आवश्यक वस्तुओं को ले जाया गया, जिसमें चिकित्सा, चिकित्सा उपकरण, फल, सब्जियां, अंडे, जूट के बीज, डाक बैग और कच्चा माल शामिल हैं।