" /> चीन की नई चाल, एलएसी पर बसा दिया नया गांव!

चीन की नई चाल, एलएसी पर बसा दिया नया गांव!

 जमीन कब्जा करने की नई साजिश
 लद्दाख में है पुराना डेमचोक गांव
 चीन के डेमचोक में हैं १३ घर
 चीनियों को लाकर वहां बसाया
 गांव में टेलीफोन की भी सुविधा

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
चीन इतना शातिर है कि वह एलएसी से सटी लद्दाख की जमीन कब्जा करने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार है। खबर है कि वहां लद्दाख के डेमचोक गांव के सामने चीन ने अपनी तरफ एक नया डेमचोक गांव बसा दिया है। वह गांव वहां हाल ही में बसाया गया है और पहले कभी नहीं था। चीन ने उस गांव में १३ मकान बनाए हैं और सड़क व फोन की सुविधा भी शुरू कर दी है।

लद्दाख के भाजपा सांसद जमयांग सेरिंग नामग्याल ने चीन द्वारा बनाए गए इस गांव की पुष्टि की है। नामग्याल जब हाल ही में एलएसी का मुआयना करने गए थे तो वहां चीन की यह करतूत देखकर दंग रह गए। उन्होंने साफ कहा कि यह चीन की चाल है और वह वहां कब्जा करने के लिए यह सब कर रहा है। उन्होंने कहा कि भारत के दावे का सबसे मजबूत आधार यही है कि सीमा के क्षेत्र में बड़ी संख्या में लंबे समय से हमारे लोग रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत सरकार को सीमा क्षेत्र में स्कूल, मेडिकल सुविधा व टेलीकॉम जैसी सुविधाएं शुरू करने की जरूरत है, जिससे लोग वहां रह सकें और उन्हें माइग्रेट न करना पड़े।

चीन ने अपने इस नए बसाए डेमचोक गांव में अपने देश के कई चीनी लोगों को बसा दिया है। वे चीनी भाषा बोलते हैं। चीन ने ऐसा इसलिए किया ताकि वह बता सके कि ये उसके कब्जे की जमीन है। कल को अगर मामले की कोई पंचायत हुई तो वह अपना फर्जी बनाया हुआ सबूत दुनिया को दिखा सके।

चीन ने नियुक्त किया नया कमांडर
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने चुनौती भरी सीमाओं पर तैनात जवानों का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी विशेष रूप से सेना के नए कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल शू किलियांग को सौंपी है। वह भारत चीन सीमा के लिए जिम्मेदार वेस्टर्न थियेटर कमान की अगुवाई करेंगे। एक मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। जनरल शू की नियुक्ति की घोषणा भारत-चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा पर जारी गतिरोध के बीच की गई है।

हांगकांग आधारित ‘साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट’ की खबर के मुताबिक, जनरल शू को वेस्टर्न थियेटर कमान के बलों का जायजा लेने के लिए भेजा गया है, जहां भारत-चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर गतिरोध जारी है। पोस्ट ने सेना के सूत्रों के हवाले से कहा,‘जिस तरह भारत के साथ सीमा विवाद को लेकर तनाव बढ़ रहा है, वैसे में इस संवेदनशील वक्त में वेस्टर्न कमांड के सैनिकों और अफसरों का नेतृत्व करने के लिए एक युवा कमांडर की जरूरत है। शू ५७ वर्ष के हैं और आयु में पिछले कमांडर से पांच वर्ष कम हैं।’