" /> चिंतामणि ने टाली बड़ी चिंता!

चिंतामणि ने टाली बड़ी चिंता!

गणेश आगमन समारोह किया रद्द
१०० वर्षों से चली आ रही थी परंपरा

कोरोना के परिप्रेक्षय में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सभी गणेश मंडलों को गणेशोत्सव सादगी से मनाने का आह्वान किया था। इस आह्वान को सभी गणेश मंडल सकारात्मक प्रतिसाद दे रहे हैं। इसके तहत चिंचपोकली के चिंतामणि ने गणेशोत्सव को लेकर एक बड़ी चिंता टाल दी है। भीड़ को टालने के लिए चिंचपोकली सार्वजनिक उत्सव मंडल ने १०० वर्षों से चली आ रही परंपरा बाप्पा की मूर्ति के आगमन समारोह को रद्द करने का निणर्‍य लिया है। इसके अलावा पुलिस पर भार न पड़े इसलिए इस बार चिंचपोकली के चिंतामणि यानी बाप्पा की मूर्ति मंडप में ही बनाने का निणर्‍य लिया है।
बता दें कि कोरोना संकट को देखते हुए इस बार कई गणेश मंडलों ने अपने-अपने कार्यक्रम में बदलाव किए है। इसी कड़ी में अब चिंचपोकली के चिंतामणि गणेश मंडल भी जुड़ गया हैं। मंडल ने इस बार बाप्पा की मूर्ति सरकारी दिशा-निर्देश के तहत बनाने का पैâसला किया है। यह मूर्ति सरकार द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार बनाई जाएगी।चिंतामणि की मूर्तिकार रेश्मा विजय खातू ही बनाएंगे। इससे पहले चिंतामणि की मूर्ति बाहर से बनाकर पंडाल में विधिवत स्थापित की जाती थी। यह जानकारी मंडल के अध्यक्ष उमेश सीताराम नाइक ने दी थी। नाइक ने बताया कि चिंचपोकली के चिंतामणि के पाटपूजन समारोह को भी रद्द कर दिया गया है। कुछ विशेष पदाधिकारियों और कार्यकारी सदस्यों की उपस्थिति में ही सरल तरीके से पाटपूजन का आयोजन किया जाएगा।

श्रद्धालुओं के लिए कार्यक्रम रद्द
उमेश नाइक ने बताया कि इस बार भव्य सजावट और प्रकाश व्यवस्था के बिना गणेशोत्सव साधारण तरीके से मनाया जाएगा। भक्तों से एकत्र हुए चंदे की राशि को सरकारी अस्पताल में चिकित्सा उपकरण खरीदने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा। गणेशोत्सव के दौरान सहयोगियों को छोड़कर अन्य श्रद्धालुओं के लिए मुखदर्शन कार्यक्रम भी रद्द कर दिया गया है।

ऐसे होंगे भक्त-भगवान के दर्शन
कानून-व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए साधारण तरीके से इस बार गणेशोत्सव मनाए जाने की बात चिंचपोकली सार्वजनिक उत्सव मंडल के सचिव वासुदेव सावंत ने कही। सदस्य संदीप परब ने बताया कि चिंचपोकली के चिंतामणि का दर्शन भक्तों के लिए ऑनलाइन तरीके से उपलब्ध कराया जाएगा, ताकि भक्तों का जमावड़ा न लग सके।

प्रसिद्ध हैं चिंतामणि गणेशोत्सव
गिरगांव के प्रसिद्ध चिंचपोकली सार्वजनिक उत्सव मंडल इस बार १०१वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है। इसको देखते हुए आयोजकों ने भव्य आयोजन करने की व्यवस्था कर रखी थी, लेकिन कोरोना संक्रमण के फैलाव को देखते हुए आयोजन समिति ने यह फैसला रद्द कर दिया है। मुंबई के चिंचपोकली में मनाए जाने वाले चिंतामणि गणेशोत्सव काफी प्रसिद्ध हैं।