" /> ट्रैक पर टकराव!, नालासोपारा में लोकल यात्रियों का हंगामा

ट्रैक पर टकराव!, नालासोपारा में लोकल यात्रियों का हंगामा

राज्य में कोरोना वायरस का संकट फैला हुआ है। इसको देखते हुए सरकार ने इस संक्रामक रोग के प्रसार की रोकथाम के लिए कई उपाय किए हैं। इसमें सोशल डिस्टेंसिंग प्रमुख है और इसमें जनता का सहयोग आवश्यक है। क्योंकि सिर सलामत तो पगड़ी हजार। मगर कभी-कभार लोग सहनशीलता खो बैठते हैं। बेवजह उग्र हो जाते हैं। जैसाकि कल नालासोपारा रेलवे स्टेशन पर हुआ। कल सुबह लोगों की एक भीड़ टकराव के मूड में आकर रेलवे ट्रैक पर उतर पड़ी और लोकल चलाने की मांग करने लगी। इससे कुछ देर के लिए वहां अफरा तफरी का माहौल पैदा हो गया।
बुधवार सुबह नालासोपारा स्टेशन पर यात्रियों ने लोकल रेलवे सेवा शुरू करने की मांग को लेकर जोरदार आंदोलन किया। इस आंदोलन की जानकारी मिलते ही रेलवे पुलिस व सिटी पुलिस तत्काल घटनास्थल पर पहुंची और यात्रियों को समझाकर आंदोलन खत्म करवाया। नालासोपारा से नियमित काम पर जानेवाले यात्री बुधवार सुबह नालासोपारा एसटी डिपो पर जमा हो गए। कुछ समय बाद यात्रियों को पता चला कि कुछ तकनीकी कारणों से बस बंद है। इसके बाद यात्री नालासोपारा स्टेशन पर जमा होकर ट्रेन से यात्रा करने की मांग करने लगे। इस दौरान लोगों ने नारेबाजी करते हुए प्लेटफार्म १ की लोकल रोक दी। रेल रोको आंदोलन की सूचना मिलते ही नालासोपारा पुलिस, वसई जीआरपी और आरपीएफ के अधिकारियों ने यात्रियों को समझाबुझा कर वापस भेज दिया है। नालासोपारा के आरपीएफ इंचार्ज रामकिशन मीणा ने बताया कि बस की खराबी के कारण सैकड़ों लोगों ने सुबह विरार की तरफ जाने वाली लोकल को रोक दिया। आरपीएफ १००-१५० लोगों के खिलाफ रेलवे एक्ट के तहत कार्यवाही करेगी। वसई जीआरपी के पुलिस निरीक्षक यशवंत निकम ने बताया कि सुबह कुछ लोगों ने नालासोपारा स्टेशन पर रेल रोको आंदोलन किया। पुलिस ने कोरोना माहमारी अंतर्गत इन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। वहीं नालासोपारा पुलिस ने एसटी डिपो प्रबंधक की शिकायत पर मुकदमा दर्ज किया है। सायली बावकर नामक यात्री ने बताया कि पिछले ४ महीने से लॉकडाउन की वजह से लोकल रेलवे सेवा बंद की गई है। जून महीने से बड़े पैमाने पर कार्यालय शुरू हो गए हैं। लोगों को एसटी महामंडल की बसों से कार्यालय तक पहुंचने में भारी दिक्कत हो रही है। इसी वजह से लोकल सेवा शुरू किया जाना आवश्यक है। पश्चिम रेलवे के प्रवक्ता के अनुसार लोकल ट्रेन सिर्फ अत्यावश्यक सेवा के लिए ही चलाई जा रही है। सभी यात्रियों को संयम से काम लेना आवश्यक है।