" /> मिलकर करो कोरोना का मुकाबला! – मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

मिलकर करो कोरोना का मुकाबला! – मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

ठाणे जिले के मनपा आयुक्तों के साथ मुख्यमंत्री ने की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग  में बातचीत

ठाणे जिले में कोरोना की बढ़ती उपस्थिति चिंताजनक है। कोरोना की लड़ाई केवल अकेले नहीं लड़ें। अपने शहर के नागरिकों और स्वयंसेवी संस्थाओं को भी साथ में लें। इससे संक्रमण पर नियंत्रण करने में मदद मिलेगी, ऐसा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कल कहा। ठाणे जिले के सभी मनपा आयुक्तों से वीडियो कॉन्प्रâेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक की और कई महत्वपूर्ण सुझाव दिए। इस अवसर पर मुख्य सचिव संजय कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सलाहकार अजोय मेहता ने सभी आयुक्तों को कोरोना के संसर्ग को किसी भी परिस्थिति में रोकने के लिए कठोर कदम उठाने को कहा।
इस अवसर पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इन तीन से चार महीनों की कोरोना लड़ाई में, सभी को पर्याप्त जानकारी है कि क्या करना है और क्या नहीं करना है। इसी प्रकार सभी को दिए गए सुझाव और निर्देश में स्वयं स्पष्ट है। उसके अनुसार सभी आयुक्त अधिक बारीकी से ध्यान देकर कार्रवाई करें तो सफलता अवश्य मिलेगी, ऐसा विश्वास मुख्यमंत्री ने व्यक्त किया। अब कोरोना की गुणाकार वृद्धि हो रही है इसलिए हमें बहुत जल्द कदम उठाने की आवश्यकता है। रोगियों की संख्या अब हर दिन तेजी से बढ़ती दिखाई दे रही है, ऐसा मुख्यमंत्री ने कहा।
मुंबई जैसी बड़ी सुविधा बनाओ
आज जिस तरह से मुंबई में कोरोना को लेकर सुसज्जित सुविधाओं की स्थापना की गई है, उसी प्रकार की सुविधा महानगर क्षेत्र में भी होने की उम्मीद थी और इसके लिए बार-बार सुझाव दिए गए थे, लेकिन पर्याप्त सुविधाएं दिखाई नहीं दे रही हैं। आनेवाले समय में मरीजों की संख्या बढ़ने की संभावना को देखते हुए तुरंत हर मनपा क्षेत्र में इन सुविधाओं का निर्माण शुरू करें। बड़े उद्योगों, कंपनियों, संगठनों से भी मदद लें। मुंबई में बनाई गई सुविधाएं मतलब केवल तंबू नहीं हैं, जिन्हें देखा और बनाया गया है। हर जगह उचित जल निकासी, शौचालय, पीने के पानी के साथ आईसीयू, डायलिसिस की भी सुविधाएं हैं। मनपा को आवश्यक दवाओं का भंडार करना होगा, ऐसा मुख्यमंत्री ने कहा।
कोरोना सतर्कता समिति नियुक्त करो
स्वतंत्रता की अवधि के दौरान देशभर में जो माहौल बना, वह नागरिकों और लोगों की भागीदारी के कारण बना था। हाल ही में चीन के संदर्भ में, लोगों ने खुद चीनी सामानों का बहिष्कार किया और एक बड़ा संदेश दिया। इसी तरह कोरोना की यह लड़ाई सिर्फ सरकार की नहीं है। गांवों और बस्तियों, कालोनियों में नागरिकों की कोरोना सतर्कता समितियों की स्थापना करें। एनजीओ, युवाओं को शामिल करें, ऐसा निर्देश मुख्यमंत्री ने दिया। मुंबई में २०१० में मलेरिया, डेंगू के समय मुंबई की बस्तियों में लोगों की मदद से दवाओं का छिड़काव किया गया था। उसी प्रकार मिशन के रूप में काम करो, लोगों में जिद्द निर्माण करो, ऐसा करने से लड़ाई आसान हो जाएगी, ऐसा मुख्यमंत्री ने कहा। इस मौके पर अजोय मेहता ने कहा कि ठाणे जिले में कोरोना का प्रकोप तेजी से फैल रहा है और यह न केवल राज्य के लिए बल्कि देश के लिए भी चिंता का विषय बन गया है। इस मौके विभिन्न मनपा आयुक्तों ने कोरोना को लेकर किए गए उपाय योजना की जानकारी दी। विभागीय आयुक्त लोकेश चंद्र ने इस मौके पर अपने सुझाव दिए ।