" /> पुलिस कांस्टेबल ने बचाई बच्चे की जान : गले में अटका था सेफ्टिपिन

पुलिस कांस्टेबल ने बचाई बच्चे की जान : गले में अटका था सेफ्टिपिन

कोरोना से जूझ रहे मुंबई पुलिस के जवानों का हौसला कम नहीं हो रहा है। पुलिस ड्यूटी पर रहते हुए मानवता की लगातार सेवा कर रही है। मंगलवार रात को वड़ाला टीटी पुलिस स्टेशन के पुलिस कांस्टेबल श्रीमंत कोलेकर ने तत्परता दिखाते हुए मात्र 14 दिन के बच्चे को अस्पताल पहुंचाकर उसकी जान बचाने में कामयाब हो गए।

श्रीमंत कोलेकर ने दोपहर का सामना से बात करते हुए बताया कि वह नाइट ड्यूटी कर रहे थे। रात करीब साढ़े 11 बजे के आसपास वड़ाला टीटी पुलिस के अंतर्गत संगम नगर के हिम्मत नगर इलाके में एक घबराई महिला छोटे बच्चे को गोद में लेकर भाग रही थी। उस महिला के साथ करीब 12 वर्षीय एक दूसरा लड़का भी था। श्रीमंत ने करीब से देखा तो 14 दिन के बच्चे के मुंह से खून आ रहा था। उन्होंने हादसे की वजह उस महिला से पूछी। महिला ने बताया कि उसके बच्चे के गले में सेफ्टिपिन अटक गई है जिसकी वजह से उसके मुंह से लगातार खून आ रहा है। क्योंकि वह इलाका हॉटस्पॉट है इसीलिए वहां अस्पताल जाने के लिए किसी भी प्रकार का साधन मौजूद नहीं था। श्रीमंत ने तुरंत अपनी बाइक पर उस महिला को बैठाकर केईएम अस्पताल लेकर गए। वहां पहुंचने के बाद महिला की हालत इतनी खराब हो गई थी कि वह डॉक्टर को सही तरीके से घटना नही बता पा रही थी। श्रीमंत ने तुरंत डॉक्टर से बात कर घटना की पूरी जानकारी बताई। इसके बाद डॉक्टरों ने करीब डेढ़ घंटे बाद उस बच्चे के मुंह से सेफ्टिपिन निकालने में कामयाब हो गए। श्रीमंत की तत्परता की वजह से उस 14 दिन के बच्चे की जान बच गई । वह सही सलामत है। महिला ने श्रीमंत को अपना आभार जताया।