" /> अत्यावश्यक सेवाओं के लिए चल सकती है ‘लोकल’ : राज्य सरकार ने मांगी अनुमति

अत्यावश्यक सेवाओं के लिए चल सकती है ‘लोकल’ : राज्य सरकार ने मांगी अनुमति

मुंबई में हालात सामान्य होने तक लोकल ट्रेनें चलाने के कोई आसार नजर नहीं आ रहे हैं लेकिन राज्य सरकार की ओर से केंद्र सरकार से अपील की गई थी कि अत्यावश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के लिए लोकल ट्रेनों को चलाने की अनुमति दी जानी चाहिए। रेलवे सूत्रों कि मानें तो लॉक डाउन-4 में इस संबंध में कोई बड़ा निर्णय केंद्र सरकार लेगी।
सूत्रों के अनुसार संभव है कि लॉक डाउन-4 के दौरान विशेष परिस्थितियों में लोकल चलाने की अनुमति दी जाए। एक अधिकारी का कहना है कि अभी लंबी दूरी की ट्रेनों तक यात्रियों को पहुंचाने के लिए कई बसों का इंतजाम करना पड़ता है, ऐसी स्थिति में स्टेशन तक श्रमिक यात्रियों को ले जाने के लिए लोकल का भी सहारा लिया जा सकता है। कई यात्री हजारों रुपए खर्च कर स्टेशन तक पहुंच रहे हैं। इसी तरह विशेष ट्रेनों से मुंबई पहुंचनेवाले यात्रियों के लिए निजी वाहनों के अलावा कोई विकल्प नहीं है, उन्हें भी लोकल द्वारा उपनगरीय स्टेशन तक छोड़ा जा सकता है।
पॉजिटिव हैं तो भी पूरा रिफंड
स्पेशल ट्रेनों में सवार होने से पहले यदि कोई यात्री अनफिट पाया जाता है अर्थात उसमें कोरोना के लक्षण दिखते हैं तो उन्हें पूरा रिफंड देकर टिकट रद्द कर दी जाएगी। अभी विशेष ट्रेनों में यात्रा के 24 घंटे पहले यदि टिकट रद्द कराई जाती है तो आधे पैसे ही मिलते हैं। यात्री 7 दिन पहले टिकट बुक कराता है तो इस दौरान यदि कोई लक्षण विकसित होते हैं तो रिपोर्ट का हवाला देकर टिकट रद्द कराई जा सकती है। रेलवे ने स्पष्ट किया है कि जिन यात्रियों में कोई लक्षण नहीं, केवल उन्हें ही यात्रा की अनुमति है।