" /> कोरोना संदिग्धों की नही होगी तत्काल जांच- मनपा ने लिया निर्णय

कोरोना संदिग्धों की नही होगी तत्काल जांच- मनपा ने लिया निर्णय

5 दिन होगी देख-रेख 
फिर लिया जाएगा सैंपल

कोरोना संदिग्धों की जांच को लेकर मनपा ने एक नया निर्णय लिया है। मनपा ने एक जीआर जारी कर कहा है कि कोरोना संदिग्धों मरीजों की जांच अब तत्काल न करते हुए मरीज में कोरोना के लक्षण दिखाई देने पर पहले 5 दिन की देख-रेख में रखा जाएगा उसके बाद ही उसकी कोरोना जांच की जाएगी। क्योंकि ऐसे व्यक्तियों में कोरोना के लक्षण तत्काल नजर नहीं आते हैं। मनपा ने यह निर्णय इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च यानी आईसीएमआर के दिशा निर्देशों के आधार पर लिया है।

बता दें कि कोरोना के लक्षण 5 से 14 दिनों के भीतर दिखाई देते हैं। इसलिए यदि पहले से ही संदिग्धों की जांच की जाती है तो परीक्षण नकारात्मक आता है। और यदि संदिग्ध का टेस्ट 5 दिनों के बाद किया जाता है तो टेस्ट की सटीक जानकारी मिल पाती है और इससे मरीज का इलाज ठीक तरह से कर पाने में डॉक्टरों को सहायता होती है। गौरतलब है कि देश भर में कोरोना के सबसे अधिक मरीज महाराष्ट्र में मिले हैं, महारष्ट्र में भी पीड़ितों की सबसे अधिक संख्या मुंबई से सामने आ रही है।