" /> अयोध्या में कोविड प्रोटोकॉल!, भूमिपूजन के मद्देनजर रामनगरी समेत आसपास के जिलों में ३ दिन का विशेष तलाशी अभियान

अयोध्या में कोविड प्रोटोकॉल!, भूमिपूजन के मद्देनजर रामनगरी समेत आसपास के जिलों में ३ दिन का विशेष तलाशी अभियान

रामलला के मंदिर के लिए आगामी ५ अगस्त को होनेवाले भूमिपूजन की तारीख नजदीक आती जा रही है और इसके साथ ही प्रशासन और सुरक्षाबल पूरी तरह से अलर्ट हो गए हैं। इसके साथ ही अयोध्या में कोविड प्रोटोकॉल शुरू हो गया है। अयोध्या के एसएसपी व डीआईजी दीपक कुमार का कहना है कि भूमिपूजन में विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों के साथ समन्वय बना कर प्रधानमंत्री को सुरक्षा दी जाएगी। हम लोग सब जगह कोविड प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं, कोविड प्रोटोकॉल के चलते हम ५ से ज्यादा लोगों को इकट्ठा होने नहीं देंगे।
बता दें कि अयोध्या की सुरक्षा इतनी कड़ी हो चुकी है कि ऐसा लगता है कि परिंदा भी बिना अनुमति पर नहीं मार सकता। यहां ५ अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत देश की कई विशिष्ट हस्तियां आनेवाली हैं। इसे देखते हुए प्रशासन ने यहां ‘आपरेशन हंटर’ शुरू किया है। इसके तहत यहां अयोध्या नगरी व आसपास के सटे जिलों में कड़ी तलाशी ली जा रही है। हर आने-जाने वाले शख्स की जांच की जा रही है।
अयोध्या परिक्षेत्र के जिलों सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, अमेठी व बाराबंकी में संदिग्ध व्यक्तियों की धरपकड़ के लिए विशेष तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है। आईजी विजय प्रकाश व पीयूष मोर्डिया की निगरानी में यह अभियान शुरू है। सुल्तानपुर के पुलिस कप्तान शिवहरि मीणा ने बताया कि प्रत्येक थाना क्षेत्र में १ दरोगा, ४ सिपाही, होमगार्ड व चौकीदार की छोटे थानों में १०, बड़े थानों में १५ एवं नगर में २० टीमें गठित की गई हैं। ये टीमें तीन दिनों तक प्रधानमंत्री का कार्यक्रम निपटने तक सभी होटल-ढाबों, सरायों-मैरिज हॉल आदि को खंगाल रही हैं। साथ ही घर-घर जाकर संदिग्ध व्यक्ति-वाहनों के विषय में पूछताछ व गोपनीय जानकारी पता कर रही हैं कि कोई बाहरी व्यक्ति तो आकर नहीं रुका है। माइक से भी एलान करवाया जा रहा है कि किसी भी संदिग्ध वाहन और व्यक्ति को देखने पर इसकी सूचना तत्काल पुलिस को दें। अगर अयोध्या परिक्षेत्र के जिलों में भी किसी का कोई रिश्तेदार भी अगर बाहर से आया है तो फरमान है कि वो ३ अगस्त तक वापस लौट जाए अन्यथा उसका भी सत्यापन कराया जाएगा। संदिग्ध पाए जाने पर पुलिस कार्रवाई करेगी। जिलों के टॉप टेन अपराधियों व सोशल मीडिया फेसबुक, वॉट्सऐप, इंस्टाग्राम पर संदिग्ध लोगों की सक्रियता पर भी नजर रखी जा रही है।

सीमा पर ४८ बैरियर
५ अगस्त के कार्यक्रम को देखते हुए सरहद पर ४८ बैरियर लगाए जा चुके हैं। पहले से सक्रिय १० बैरियर के साथ १० अतिरिक्त बैरियर लगाये गए हैं। अयोध्या जाने वाले प्रत्येक मार्ग को पुलिस ने बैरियर लगाकर बंद करते हुए चेकिंग एवं प्रिâस्किंग शुरू कर दी है। मेडिकल-आपात सेवाओं को छोड़कर अन्य किसी को भी अयोध्या जाने की अनुमति नहीं है। अयोध्या सीमा पर स्थित गांवों पर पुलिस खास नजर रखे हुए है। यूपी-११२ की गाड़ियां सीमा पर तैनात कर दी गई हैं।
उनकी उपस्थिति ही हम सबकी उपस्थिति
पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि कोरोना की स्थिति में हम भले ही अयोध्या में हों किंतु शिलान्यास स्थल पर कौन मौजूद होंगे यह अंतिम घड़ी तक स्पष्ट नहीं हो सकता। जैसे नदियां समुद्र में समा जाती हैं, हम सब मोदीजी में समा गए हैं। उनकी शिलान्यास स्थल पर उपस्थिति ही हम सबकी उपस्थिति है।