" /> लॉक डाउन में साइबर धोखाधड़ी के मामले बढ़े : साइबर पुलिस ने किया आगाह

लॉक डाउन में साइबर धोखाधड़ी के मामले बढ़े : साइबर पुलिस ने किया आगाह

कोरोना संक्रमण से रोकथाम के लिए लॉक डाउन का सहारा लिया गया है। ऐसे में कई लोग अपनी जरूरतें पूरी करने के लिए ऑनलाइन शॉपिंग को प्राथमिकता दे रहे हैं। ऐसे लोग आसानी से साइबर धोखाधड़ी का शिकार हो रहे हैं। इन्हीं सब वजहों साइबर अपराधों में बढोतरी दर्ज की गई है।

महाराष्ट्र साइबर पुलिस के पुलिस उप महानिरीक्षक हरीश बैजल ने ट्विटर के माध्यम से एक वीडियो जारी कर लोगों को आगाह किया है। उन्होंने कहा कि फर्जी ईमेल, मैसेज से सावधान रहें, जो लॉटरी या अन्य प्रकार के पैसे मिलने का दावा करता हो। यह सब उन लोगों की चाल होती है, भोले-भाले लोगों को फंसाने के लिए। दुनिया में ऐसी कोई भी संस्था नहीं है, जो पैसे या लोन मुफ्त या कम दर में देने की बात करें। उन्होंने आगाह करते हुए कहा कि ऐसे ठगों के झांसे में नहीं आना चाहिए। हर वक्त सतर्क रहना चाहिए। अगर लोगों को इस तरह का फोन या मैसेज आता है तो वह www.cybercrime.gov.in पर जाकर शिकायत दर्ज करा सकता है, या नजदीकी पुलिस में संपर्क कर सकता है। बता दें कि लॉकडाउन के दौरान साइबर पुलिस ने 180 से अधिक मामले दर्ज किए गए, जिसमें धोखाधड़ी और घृणित भाषण शामिल है।