" /> ठाणे, कलवा, मुंब्रा पर भूस्खलन का खतरा!

ठाणे, कलवा, मुंब्रा पर भूस्खलन का खतरा!

कहर ढ़ा सकता है मॉनसून
मनपा द्वारा जारी किया गया नोटिस

एक ओर कोरोना का कहर जारी है, तो वहीं दूसरी ओर ठाणे, कलवा और मुंब्रा स्थित झोपड़ियों पर मौत के बादल मंडरा रहे हैं। मूसलाधार बारिश के कारण 26 स्थानों पर भूस्खलन या भूस्खलन की संभावना है। इन दुर्घटनाओं को रोकने के उपाय को ध्यान में रखकर ठाणे मनपा ने पहाड़ी व ढलान पर रहनेवाले निवासियों को घर खाली कर सुरक्षित स्थान पर स्थानांतरित करने की नोटिस जारी की है। बारिश के मौसम में जीवन की गाड़ी को कहां ले जाना है, इस बारे में सोचकर निवासी चिंतित नजर आ रहे हैं।
बता दें कि बुधवार के दिन चक्रवात के साथ आई बरसात ने एक बार फिर से पहाड़ियों पर बसी झोपड़ियों पर मंडरा रहे खतरे का इशारा दिया है। शहर में कलावा, मुंब्रा, लोकमान्य नगर, घोड़बंदर रोड पर पाटलीपाडा क्षेत्र में पहाड़ी के नीचे और पहाड़ी पर मकान बनाए गए हैं। मॉनसून के दौरान रायलादेवी क्षेत्र, वर्तकनगर-1, मजीवाड़ा-मानपाड़ा-2, कलवा-6, मुंब्रा-5 में 12 स्थानों पर भूस्खलन की संभावना व्यक्त की गई है। इन स्थानों पर मौजूद झोपड़ियों में रहनेवाले आम नागरिकों को नोटिस जारी कर जल्द-से-जल्द सुरक्षित स्थान पर जाने का निर्देश दिया गया है क्योंकि बारिश शुरू होते ही क्षेत्र के निवासियों पर मौत के खतरा हो सकता हैं। इसके अनुसार, उपायुक्त महेश अहेर ने मुंब्रा में चार वार्डों के निवासियों को अपना घर खाली करने का आदेश दिया है। इसमें नाले पर बने मकान भी शामिल हैं।