" /> दमदार दानिश

दमदार दानिश

पाकिस्तान के लेग स्पिनर दानिश कनेरिया ने एक बार फिर देश के क्रिकेट बोर्ड की इस बात को लेकर आलोचना की है कि उन्होंने उसे सपोर्ट नहीं किया। 2010 में उनपर स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने के लिए आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया था। टेस्ट क्रिकेट में पाकिस्तान की तरफ से चौथे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले कनेरिया ने इंजमाम उल हक के इंटरव्यू पर प्रतिक्रिया दी। इंजमाम उल हक ने कहा था कि 2006 में मुल्तान में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच में लारा ने उनकी गेंदों को आसानी से सीमा पार पहुंचाया था। इंजमाम ने इंटरव्यू में कहा, ”दानिश ने गुगली फेंकी, लारा ने इसे गेंदबाज की तरफ खेला। उस पल दानिश ने कहा, बहुत अच्छा खेले लारा। लारा ने जवाब दिया, ओके सर, लेकिन अगली तीनों गेंदों को लारा ने सीमा पार पहुंचा दिया।” इंजमाम ने कहा, ”उस समय में टीम का कप्तान था। मैं कनेरिया के पास गया और उन्हें कहा कि लारा को थोड़ा और छेड़ो ताकि वह उत्तेजित होकर गलत शॉट खेलें। मुझे लग रहा था लारा गुस्से में हैं इसलिए वह अपनी विकेट गंवा सकते हैं। मैंने सीमा पर फील्डर खड़े किए, ताकि वह बड़े शॉट खेले और आउट हो जाए, लेकिन उन्होंने दानिश की गेंदों को हर दिशा में खेला। इंजमाम उल हक के इस बयान के बाद दानिश कनेरिया ने एक ट्वीट किया है। कनेरिया ने कहा, ”मैंने लारा को अपने करियर में 5 बार आउट किया। अगर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से उन्हें सहयोग मिला होता तो वह 276 अंतरराष्ट्रीय विकेट से कहीं ज्यादा विकेट ले सकता था।”