" /> अपर मुख्य सचिव की बैठक से गायब जिला सर्विलांस अधिकारी सस्पेंड

अपर मुख्य सचिव की बैठक से गायब जिला सर्विलांस अधिकारी सस्पेंड

• कोरोना संक्रमण से जूझ रहे सुल्तानपुर जिले के हालात की समीक्षा करने पहुंची यूपी की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार

उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार अवध क्षेत्र के पड़ोसी जिलों अमेठी, प्रतापगढ़ अंबेडकरनगर आदि के मुकाबले काफी तेज है। स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह स्वयं इस जनपद के प्रभारी मंत्री हैं, फिर भी हालात संभल नहीं रहे। रोजाना औसतन ५० नए मरीज मिल रहे हैं। कोविड प्रोटोकाल के नियमों के पालन में भी जनता अपेक्षाकृत जागरूक नहीं है। इसे शासन ने गंभीरता से लेते हुए बेसिक शिक्षा व राजस्व विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार को बतौर नोडल अधिकारी जिले की समीक्षा करने के लिए भेजा। कोविड-१९ के संक्रमण से बचाव को लेकर उन्होंने जिलाधिकारी सी इंदुमती व मुख्य विकास अधिकारी अतुल वत्स के संयोजन में स्थानीय अधिकारियों के साथ प्रत्येक बिंदुओं पर जानकारी ली। बैठक में जिला सर्विलान्स अधिकारी डॉ राधा बल्लभ के अनुपस्थित रहने, हफ्ते भर से अवकाश पर चले जाने, कोविड नियंत्रण कार्य में रूचि न लिये जाने पर कड़ा रुख अपनाया। उनके तत्काल प्रभाव से निलंबन के निर्देश दिए। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया कि कोविड-१९ वैश्विक महामारी में सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को पूरी ईमानदारी एवं निष्ठा से अपने कार्यो को ससमय संपादित करना चाहिये। पाजिटिव मरीजों के समुचित उपचार व होम आइसोलेट व्यक्तियों के साथ-साथ एल-१, एल-२, एल-३ चिकित्सालय में समुचित व्यवस्था मुहैया की जाये। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने वृत्त विश्लेषण किया। समीक्षा के दौरान प्रोफेसर स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रेनिंग हेल्थ एवं फैमिली प्लानिंग डॉ मनीष सिंह, अपर जिलाधिकारीद्वय हर्ष देव पाण्डेय,उमाकान्त त्रिपाठी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सीबीएन त्रिपाठी, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी पन्नालाल आदि अधिकारी उपस्थित रहे।