बनेगा पुल, नहीं जाएंगी जानें, जुलाई महीने से काम की शुरुआत

ठाणे मनपा और मध्य रेलवे के बीच उचित संवाद की कमी के चलते पिछले ६ वर्षों से लटके दिवा रेलवे पुल के काम की शुरुआत जुलाई महीने से की जानेवाली है। ऐसे में अब रोजाना दिवा रेलवे फाटक से ट्रैक पार करते हुए यात्रियों को अपनी जान नहीं गंवानी पड़ेगी।
बता दें कि दिवा, खारेगांव और ठाकुर्ली में रेलवे पुल न होने के कारण निजी वाहनों को फाटक से ट्रैक पार करना पड़ता है। जिस वजह से मध्य रेलवे की २०० से अधिक लोकल देरी से चलती हैं तो वहीं दिवा रेलवे फाटक पार करते वक्त हर वर्ष सैकड़ों लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ती है। इन सभी समस्याओं पर ध्यान दिया जाए तो पुल बनाना बेहद जरूरी है। वर्ष २०१३ में दिवा रेलवे स्टेशन पर इस परियोजना को मंजूरी मिली थी लेकिन ठाणे मनपा प्रशासन और मध्य रेलवे के बीच उचित संवाद न हो पाने की वजह से पुल का कार्य पिछले ६ वर्षों से लटका पड़ा है। मध्य रेलवे द्वारा जगह की जांच की जा चुकी है जबकि मनपा प्रशासन का कहना है कि जुलाई से पुल के काम को शुरू कर दिया जाएगा। उक्त जानकारी ठाणे मनपा के कार्यकारी अभियंता प्रवीण पापलकार ने दी। पापलका ने बताया कि मनपा इसके लिए कुल ३४ करोड़ रुपए खर्च करनेवाली है।
ऐसा है रेलवे पुल
दिवा रेलवे स्टेशन से ठाणे की दिशा में १५ मीटर के अंतर पर पुल बनाया जानेवाला है। मनपा की सीमा में बनाए जानेवाले भाग को मनपा बनानेवाली है जबकि रेलवे की सीमा में बनाया जानेवाला पुल रेलवे द्वारा बनाया जाएगा। पुल की लंबाई २५० मीटर जबकि चौड़ाई १२ मीटर होगी। पुल पर फुटपाथ भी बनाया जाएगा, जहां यात्री चल सकते हैं।