" /> कोरोना मरीजों के इलाज के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध

कोरोना मरीजों के इलाज के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध

◼️ इलाज में नहीं होने देंगे पैसे की कमी, एकनाथ शिंदे का आश्वासन
◼️ सरकार द्वारा मनपा को दिया जाएगा 25 एंबुलेंस, शहर में खुशी
◼️ इलाज न करनेवाले निजी अस्पतालों पर नकेल कसने का आदेश

भिवंडी में कोरोना प्रभावित रोगियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के लिए राज्य सरकार कटिबद्ध हैै। इसके लिए मनपा में धन की कमी नहीं होने दूंगा। इस प्रकार का आश्वासन पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने मनपा में कोरोना के मद्देनजर की गई समीक्षा बैठक में मनपा अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों को दिया।
मालूम हो कि भिवंडी मनपा मुख्यालय में बुधवार की शाम एक समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया था, जिसमें मौजूद मनपा के जिम्मेदारों द्वारा कोरोना को लेकर हो रही तकलीफ व इसके कारण व निवारण के संदर्भ में बात की गई। इस दौरान पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने शहर में कोरोना रोगियों की बढ़ती संख्या व बढ़ती मृत्यु दर पर चिंता व्यक्त की। साथ ही प्रशासन को कोरोना व अन्य रोगियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए सरकारी स्तर पर एक अस्पताल उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने मरीजों का इलाज न करनेवाले निजी अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई का भी आदेश दिया। बैठक में कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच प्रकिया में तेजी लाने, नए कोरंटीन निर्माण करने तथा एंबुलेंस की अधिक सुविधा उपलब्ध करवाने पर चर्चा की गई, जिसके बाद पालकमंत्री ने मनपा को 25 एंबुलेंस उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया है।
पोगांव में निर्माणाधीन कोविड अस्पताल का निरीक्षण
समीक्षा बैठक के बाद एकनाथ शिंदे ने सभी अधिकारियों के साथ पोगांव में निर्माणाधीन 350 बेड के कोविड अस्पताल का दौरा किया और स्थल पर भवन और अन्य उपकरणों का निरीक्षण किया। इस समीक्षा बैठक में महापौर प्रतिभा विलास पाटील, सांसद कपिल पाटील, विधायक रईस शेख, शांताराम मोरे, जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर, सवैय सहायक बालाजी खतगावकर, पूर्व विधायक रूपेश म्हात्रे, हथकरघा महामंडल के अध्यक्ष प्रकाश पाटील, उपमहापौर इमरान खान, सभागृह नेता विलास पाटील, शिवसेना गटनेता संजय म्हात्रे, आयुक्त डॉ. पंकज आशिया, उपविभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलंदकर, पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे, तहसीलदार शशिकांत गायकवाड, गटविकास अधिकारी डॉ. प्रदीप घोरपडे, महानगरपालिका वैद्यकीय अधिकारी डॉ. जयवंत धुले आदि अधिकारी उपस्थित थे।
पैसे की जगह दवा आदि उपलब्ध कराने की मांग
भिवंडी सुविधा मंच के संयोजक पूनमचंद गुप्ता ने पालकमंत्री एकनाथ शिंदे से मांग की है कि मनपा को सहायता के तौर पर नकद की बजाय भिवंडी के लिए अच्छी वैद्यकीय व्यवस्था के लिए उपकरणों, साहित्य और औषधि उपलब्ध करवाए, ताकि मनपा के भ्रष्टाचार पर अंकुश लग सके। उन्होंने कहा है कि साथ ही कोरोना संक्रमण काल के शुरुआती समय से हो रहे खर्च उस खर्च की जरूरत सुविधाओं के लिए दिए गए मूल्यों की भी जानकारी लेकर इसमें होनेवाले भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाए क्योंकि भ्रष्टाचार से खरीदी गई सत्ता ईमानदारी से जनता को उनके हक की उचित मूल्योंवाली जरूरी सुविधाएं नहीं उपलब्ध करा सकती।