" /> जुलाई में फाइनल टेस्ट!, सफलता के करीब कोरोना वैक्सीन

जुलाई में फाइनल टेस्ट!, सफलता के करीब कोरोना वैक्सीन

मॉडर्ना का कोरोना वैक्सीन है तैयार
३० हजार लोगों पर आखिरी ट्रायल
डमी और रियल शॉट के साथ ट्रायल

कोरोना ने पूरी दुनिया में कोहराम मचा रखा है और हर किसी को इसकी वैक्सीन का इंतजार है। लगता है यह इंतजार जल्द ही खत्म होनेवाला है। खबर है कि अमेरिका की एक कंपनी इसके फाइनल फेज में पहुंच चुकी है।अमेरिका की बायोटेक कंपनी मॉडर्ना इंक ने अपनी वैक्सीन का फाइनल ट्रायल जुलाई में करने का ऐलान किया है। कंपनी अपने टेस्टिंग के फाइनल चरण में पहुंच चुकी है और वो जुलाई महीने में ३० हजार लोगों पर कोरोना वायरस के वैक्सीन का ट्रायल करेगी। इनमें से कुछ लोगों को रियल शॉट दिया जाएगा जबकि कुछ लोगों को डमी शॉट दिया जाएगा ताकि ये पता लगाया जा सके कि दोनों में से किस समूह के लोग ज्यादा संक्रमित हैं।
कैम्ब्रिज, मैसाचुसेट्स स्थित बायोटेक का कहना है कि इस स्टडी का मुख्य लक्ष्य लक्षण वाले कोविड-१९ के मरीजों को रोकना है। इसके बाद दूसरी प्राथमिकता इस महामारी को रोकना होगा ताकि लोगों को अस्पताल से दूर रखा जा सके। कंपनी ने कहा कि उसने आखिरी स्टेज की स्टडी के लिए वैक्सीन की १०० माइक्रोग्राम डोज तैयार की है। इसके अलावा कंपनी हर साल लगभग ५० करोड़ की डोज डिलीवर करने की तैयारी में है। कंपनी ये डोज स्विस ड्रगमेकर लॉन्जा के साथ मिलकर तैयार करेगी।बवहीं, चीन की बायोटेक कंपनी सिनोवेक ब्राजील के लोगों पर वैक्सीन का फाइनल ट्रायल करेगी। ब्राजील कोरोना वायरस से सबसे बुरी तरह प्रभावित है। वहां की सरकार ने घोषणा की है कि सिनोवेक ब्राजील के ९००० लोगों पर टेस्टिंग के लिए पर्याप्त प्रायोगिक वैक्सीन भेजेगा। ये टेस्टिंग अगले महीने शुरू की जाएगी। साओ पाउलो के राज्यपाल जोआओ डोरिया ने कहा, ‘अगर यह काम करता है, तो हम इस वैक्सीन से ब्राजील के लाखों लोगों को सुरक्षित करने में सक्षम होंगे।’