" /> लॉकडाउन में अनाज व्यापारियों ने बढ़ाया मदद का हाथ

लॉकडाउन में अनाज व्यापारियों ने बढ़ाया मदद का हाथ

हजारों परिवारों तक पहुंचाया मुफ्त राशन

कोरोना वायरस से उपजी इस विश्व आपदा में लॉकडाउन की अवधि के दौरान मीरा-भाइंदर होलसेल ग्रेन-शुगर मर्चेंट एसोसिएशन ने दिल खोलकर जरूरतमंद लोगों की मदद की। २२ मार्च से लागू लॉकडाउन के बाद एसोसिएशन ने पुलिस प्रशासन, जीवनधारा संघ, भारतीय स्टील बफिंग ऑप. एसो., जरूरतमंद पत्रकार आदि को चावल, आटा, दाल जैसी दैनिक आवश्यकता का राशन पहुंचाकर बहुत ही राहत प्रदान की। इतना ही नहीं बल्कि केशव सृष्टि की गौशाला में गायों के लिए घास (चारा) की भी व्यवस्था कराई। इसके अलावा भी हजारों गरीबों में एसोसिएशन के माध्यम से राशन पहुंचाया गया।
मीरा-भाइंदर होलसेल ग्रेन-शुगर मर्चेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष सोहन वैष्णव ने अपनी तरफ से गरीबों में बर्तन, कपड़े, फल, शर्बत आदि का भी समय-समय पर वितरण किया। उनके इस कार्य में एसोसिएशन के अन्य पदाधिकारियों सलाहकर्ता धनराज अग्रवाल, उपाध्यक्ष चंद्ररतन अग्रवाल, कोषाध्यक्ष अरविंद भानुशाली, सचिव नीरज गुप्ता, सहसचिव गौरीशंकर अग्रवाल, कमिटी सदस्य निर्मल पटेल, संजय भानुशाली, विनोद कुमार मरलेछा, गोपालकृष्ण नवल व सभी सदस्यों ने बढ़-चढ़कर सहयोग प्रदान किया।
अध्यक्ष सोहन वैष्णव ने बताया कि इस एसोसिएशन का गठन वर्ष १९९९ में किया गया था। भाइंदर-पश्चिम में एसोसिएशन का अपना एक मिनी हॉल भी है, जहां वर्षभर छोटे-बड़े सामाजिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। वर्ष में एक बार एसोसिएशन द्वारा धार्मिक यात्रा का भी आयोजन किया जाता है। यह एसोसिएशन गरीब बच्चों के स्कूल का खर्च व मेडिकल सहायता भी प्रदान करता है। वैष्णव के अनुसार इस एसोसिएशन के भाइंदर-पश्चिम में १८, पूर्व में ३१ व मीरारोड में १५ सक्रिय सदस्य हैं।