" /> स्वतंत्रता दिवस से पहले सनकी आईएसआई!, विदेशी नंबरों से हिंदुस्थानी फोन पर बज रहे हैं भड़काऊ संदेश

स्वतंत्रता दिवस से पहले सनकी आईएसआई!, विदेशी नंबरों से हिंदुस्थानी फोन पर बज रहे हैं भड़काऊ संदेश

स्वतंत्रता दिवस से पहले पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई एक बार फिर सनक गई है। आईएसआई उत्तर प्रदेश और दिल्ली में मुसलमानों को भड़काने वाली ऑडियो संदेश भेज कर १५ अगस्त को देश का माहौल बिगाड़ने के लिए उकसा रही है। मुसलमानों को भड़काने वाले ये ऑडियो संदेश विभिन्न इंटरनेशनल मोबाइल नंबरों से किए जा रहे हैं। दो दिन से लगातार आ रहे ऐसे जहरीले ऑडियो भेजनेवाले मोबाइल नंबरों का राजधानी पुलिस ने संज्ञान लिया है। कल से ही कई पत्रकारों के मोबाइल पर आनेवाले ये संदेश एक भाजपा विधायक के मोबाइल नंबर पर भी आया। जिन नंबरों से संदेश आए उनमें +१२७०४७९६३४२, +१४०४७७७३२३१, +१२७९२०१६७९३, +१९७९५५३६१४९, +१३६१७३८०२५७, +१७२४३१८६८९८, +१२७९२९१६७९३, +१३२५२४०४८११ और +१५७३६२१८१०६ जैसे विदेशी नंबरों का समावेश है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार लखनऊ पुलिस की साइबर शाखा के अलावा दिल्ली पुलिस ने देशद्रोह, दंगा भड़काने और समाज विरोधी गतिविधियों के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है। पत्रकारों और आम नागरिकों के फोन पर जहरीली और भड़काऊ रिकॉर्डेड फोन कॉल्स आना आज भी जारी है।

बता दें कि ये सिलसिला गत शनिवार शुरू हुआ था। इसके बाद दिल्ली और लखनऊ में एफआईआर भी दर्ज की गई है। शनिवार को पुरुष के आवाज में आया ऑडियो संदेश यूसुफ नाम के व्यक्ति की आवाज में था तो रविवार को आयशा नाम की महिला की ओर से इसे भेजा गया। इस ऑडियो में खालिस्तानी अलगाववादियों की तरह मुसलमानों को भी अलग से उर्दूस्तान की मांग करने के लिए उकसाया गया है। ऐसे संदेशों से शनिवार को लखनऊ में तब हड़कंप मच गया था जब दोपहर एक बजे से तीन बजे के बीच पत्रकारों के पास ऐसे ऑडियो आने शुरू हुए। पता चला है कि विदेशी नंबरोंवाले बल्क कॉल पैकेज से ऐसी जहरीली कॉल्स दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद के पत्रकारों को भी आर्इं, जबकि दिल्ली और लखनऊ के आम लोगों के पास भी ये कॉल्स आने की खबरें हैं। हैरानी की बात है कि देश के सौहार्द को चुनौती देनेवाली इस तरह की फोन कॉल्स करनेवाली देश की दुश्मन ताकतों को पकड़ना तो दूर, पुलिस इन्हें रोकने में भी कामयाब नहीं हो सकी है। ये कॉल्स अब सोशल मीडिया पर भी तेजी से वायरल हो रही है। रिकॉर्डेड कॉल में राष्ट्रीय एकता, अखंडता को चुनौती दी गई। मुस्लिम समाज को भड़काने के प्रयास किए गए। सबसे पहले इस साजिश की जानकारी से सुरक्षा एजेंसियों को अवगत कराने के लिए पत्रकारों ने सारी बात पब्लिक डोमेन (सोशल मीडिया) पर रखी। लखनऊ की हजरत गंज कोतवाली में इसकी शिकायत पर तफ्तीश शुरु हो गई। लखनऊ पुलिस कमिश्नर ने एक मोबाइल नंबर ९४५४४०१५०८ जारी करते हुए कहा है कि यदि किसी के पास ऐसी कॉल आती है तो वो कॉल डिटेल इस नंबर पर भेज दे। लखनऊ पुलिस ने कल अपनी प्राथमिक पड़ताल में बताया था कि धमकी या भड़काऊ संदेश देनेवाले फोन नंबर विदेशी लग रहे हैं।