अब खाओ धका-धक, चौपाटी पर बनेगा ‘चटपटा’ हब

मायानगरी मुंबई बॉलीवुड, व्यापार के अलावा पर्यटन व चटपटे स्ट्रीट फूड के लिए भी काफी मशहूर है। दिक्कत यह है कि साफ-सफाई और क्वॉलिटी को लेकर हमेशा स्ट्रीट फूड पर सवाल उठते हैं। इसी के मद्देनजर अन्न व औषधि प्रशासन (एफडीए) और खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) जल्द ही जुहू और गिरगांव चौपाटी को ‘क्लीन स्ट्रीट फूड का हब’ का दर्जा देनेवाली है। यानी अब उक्त जगह पर लोग चटपटे चाट व खाद्य पदार्थों को धका-धक खा सकते हैं। मतलब चौपाटी अब ‘चटपटा’ हब बनेगी।
बता दें कि देश, विदेश से मुंबई आनेवाले सैलानियों के लिए जुहू चौपाटी और गिरगांव चौपाटी हमेशा से आकर्षण का केंद्र बनी रहती है। मुंबईकर भी छुट्टियों के दिन बीच पर सैर-सपाटे के लिए निकल पड़ते हैं। सैर-सपाटे के साथ-साथ लोग बीच पर मौजूद फूड स्टॉल पर खाने का लुत्फ उठाते हैं लेकिन कई बार एफडीए को शिकायत मिलती है कि उक्त स्थानों पर साफ-सफाई नहीं होती। इसी के मद्देनजर एफडीए ने यह योजना बनाई कि दोनों चौपाटी पर मौजूद स्टॉलवालों को खाद्य सुरक्षा कानून से वाकिफ कराया जाए। एफडीए के संयुक्त आयुक्त एसपी अढ़ाव ने ‘दोपहर का सामना’ को बताया कि हमने दोनों चौपाटियों पर मौजूद स्टॉलवालों को जागरूक किया और सभी ५८ नियमों का पालन करने के लिए कहा है, जैसे साफ-सफाई, कर्मचारी के हाथ में दस्ताने और शरीर पर एप्रन व सिर वैâप से ढ़ंका होना चाहिए। कूड़ादान रखने और अच्छी क्वॉलिटी का खाद्य पदार्थ का इस्तेमाल करने के लिए कहा गया है। निरंतर जांच और जागरूकता के बाद सभी नियमों का पालन स्टॉलधारकों द्वारा किया जा रहा है। अब हम आखिर में एक बार सभी स्टॉलों का ऑडिट करेंगे, उसके बाद इन्हें ‘क्लीन स्ट्रीट फूड का हब’ घोषित किया जाएगा।