" /> ये बाल मुझे दे दो!… उइगर मुस्लिम महिलाओं पर चीन की टेढ़ी नजर

ये बाल मुझे दे दो!… उइगर मुस्लिम महिलाओं पर चीन की टेढ़ी नजर

अमेरिकी ‘एनएसए’ ने खोली ड्रैगन की पोल

चीन की नजर अपने देश की मुस्लिम महिलाओं के बाल पर है। वह उनके बाल जबरन काट रहा है। साथ ही चीन के मुस्लिम बहुल प्रांत शिनजियांग में मुस्लिम महिलाओं के साथ वह कुछ नरसंहार जैसा करने जा रहा है। अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ’ब्रायन ने चीन की पोल खोलते हुए दावा किया है कि चीन शिनजियांग में मुसलमानों के साथ नरसंहार जैसा कुछ कर रहा है। इसके लिए चीनी प्रशासन बड़े-बड़े डिटेंशन वैंâपों में बंदी बनाकर रखी गर्इं मुस्लिम महिलाओं के सिर भी मुंडवा रहा है।
बता दें कि अमेरिका के किसी बड़े अधिकारी ने अभी तक शिनजियांग में चीन के ऊपर नरसंहार जैसा संगीन आरोप नहीं लगाया था। पहली बार अमेरिकी ‘एनएसए’ रॉबर्ट ओ’ब्रायन ने एस्पेन इंस्टीट्यूट के ऑनलाइन कार्यक्रम में इस शब्द का प्रयोग किया है। माना जा रहा है कि इस शब्द के कई कानूनी निहितार्थ भी निकाले जाएंगे और चीन पर कड़े प्रतिबंध भी लगाए जा सकते हैं। यूएन रिपोर्ट के अनुसार, शिनजियांग में चीन ने लगभग १० लाख से ज्यादा उइगर मुसलमानों को डिटेंशन वैंâपों में वैâद करके रखा हुआ है। कई मानवाधिकार संगठनों का आरोप है कि चीन वहां नरसंहार कर रहा है और यह मानवता के खिलाफ अपराध है, जबकि चीन शुरू से इन आरोपों से इनकार करता रहा है। उसका कहना है कि इस क्षेत्र के कैंप व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान करते हैं, जिससे चरमपंथ से लड़ने में मदद मिलती है।
एनएसए ने कहा कि अमेरिकी बॉर्डर कस्टम ने शिनजियांग के मानव बाल से बने बड़े पैमाने पर उत्पादों को बरामद किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि चीनी सरकार इन वैंâपों में वैâद महिलाओं के बाल मुंडवा रही है और उनसे उत्पाद बनाकर अमेरिका भेज रही है। जून में अमेरिकी यूएस कस्टम और बॉर्डर फोर्स ने बताया था कि उन्होंने शिनजियांग से आ रहे बालों के उत्पादों और सामानों के एक शिपमेंट को जब्त किया है। संभावना जताई गई थी कि इसे शिनजियांग के वैंâपों में वैâद उइगरों ने तैयार किया था।