" /> गोदान में कोरोना : मिले ३ मरीज

गोदान में कोरोना : मिले ३ मरीज

गोरखपुर जानेवाली सबसे हाई डिमांड में रहनेवाली गोदान एक्सप्रेस ट्रेन में पिछले दिनों कोरोना पॉजिटिव के ३ यात्री मिलने के बाद रेलवे के हाथ-पांव फूल गए हैं। इस ट्रेन में कोरोना का मामला सामने आने के बाद रेलवे इस ट्रेन में सफर करनेवाले सभी यात्रियों को संदेश भेज रही है। साथ ही यह बताया जा रहा है कि इस डिब्बें में पिछले दो दिनों से सफर करनेवाले यात्रियों को रेलवे की तरफ से मैसेज भेज कर यह बताया जा रहा है की वे लोगों से दूर रहने और अपने गंतव्य स्थान पर पहुंचने के बाद तुरंत अपनी जांच कराए क्योंकि उस दिन पूरी बोगी लोगों से भरी हुई थी।गौरतलब है कि कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए केंद्र और राज्य सरकार ने कई बड़े पैâसले लिए हैं। परंतु रेलवे को बंद करना संभव नहीं है। साथ ही लाखों की संख्या में यात्री होने के चलते रेलवे के यात्रियों की जांच भी संभव नहीं हो पा रही है। पिछले कुछ दिनों में मध्य और पश्चिम रेलवे में ३० से अधिक लोगों को ट्रेन से उतारा गया है। ये वे लोग हैं, जिनके हाथों पर होम क्वारनटाइन  का स्टैंप लगा हुआ था। कई लोग ऐसे भी हैं जिन्हें ये पता नहीं होता है कि उन्हें कोरोना हुआ है। मध्य रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि १६ मार्च को मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस से गोरखपुर जानेवाली गोदान एक्सप्रेस के बी-१ डिब्बे में तीन कोरोना ग्रस्त लोगों के यात्रा करने की सूचना मिली है। ये तीनों यात्री जबलपुर में उतरे, जहां जांच के बाद पता चला कि उन्हें कोरोना हुआ है। उन्होंने कहा, इसके बाद हम इस बोगी में सफर करनेवाले सभी यात्रियों को मैसेज भेज रहे हैं। उन्होंने बताया कि इसके अलावा यह ट्रेन एक बार गोरखपुर से मुंबई आई है और अब फिर गोरखपुर के लिए निकली है। हम सावधानी के लिए इस बोगी में पिछले दो दिनों में सफर करनेवाले हर व्यक्ति को मैसेज भेज रहे हैं। उन्होंने बताया कि हम सभी ट्रेनों में लोगों के हाथ और बोगियों में लोगों के शरीर का तापमान चेक कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि अब हम जनरल टिकट खिड़कियों के सामने भी सभी का तापमान चेक करने की तैयारी कर रहे हैं। गोदान गोरखपुर पहुंचेगी तब बोगी को इस ट्रेन से हटाया जाएगा।