" /> गणेशभक्तों के लिए सरकार की सौगात!, गांव तक मिलेगी बस की सुविधा

गणेशभक्तों के लिए सरकार की सौगात!, गांव तक मिलेगी बस की सुविधा

एस टी बसें गणेशोत्सव के लिए कोकण जाने वाले मुंबईकरों को सीधे उनके गांव पहुंचाएंगी। सरकार ने एस टी महामंडल को नई गाइड लाइन के तहत यह आदेश जारी किया है। कोकणवासियों को यह सौगात महाराष्ट्र सरकार ने दी है। उक्त जानकारी परिवहन मंत्री अनिल परब ने दी है। परिवहन मंत्री ने बताया कि अगर एक एस टी की बस में २२ लोग अपना एक ग्रुप बनाकर बुकिंग करते हैं तो उन्हें सीधे उनके गांव तक पहुंचाने की सेवा दी गई है। कोकण के गांवों में जाने के लिए जो किराया है, उससे अधिक किराया अगर किसी एस टी बस या अन्य प्राइवेट गाड़ियों द्वारा लिया गया तो उन्हें माफ नहीं किया जाएगा। कोरोना महामारी को रोकने और उससे बचाव हेतु एक एस टी बस में मात्र २२ लोगों को सफर करने दिया जाएगा। हर वर्ष गणेशोत्सव के लिए २,२०० बसें कोकण के लिए जाती थीं इस वर्ष ३,००० बसों का इंतजाम किया गया है। अनिल परब ने कोकण में गणेशोत्सव मनानेवालों की सुविधा का ध्यान रखते हुए कहा कि १२ अगस्त के पहले जो लोग कोकण जाएंगे उन्हें क्वॉरंटीन होना पड़ेगा। स्वास्थ्य विभाग और सभी विभाग से चर्चा करके १४ दिन के क्वॉरंटीन को कम कर १० दिन का होम क्वॉरंटीन कर दिया गया है। एस टी बसों से जाने वालों को कोई ई-पास नहीं लगेगा लेकिन जो प्राइवेट गाड़ियों से जाएंगे उन्हें ई-पास की आवश्यकता पड़ेगी है। परिवहन मंत्री ने कहा कि जो १२ तारीख के बाद कोकण जाने वाले हैं उन्हें पहले अपनी कोरोना की जांच करानी पड़ेगी। जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आएगी, उन्हें ही कोकण जाने दिया जाएगा।