" /> कोरोना की लड़ाई में धन की कमी नहीं होने देगी सरकार -मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

कोरोना की लड़ाई में धन की कमी नहीं होने देगी सरकार -मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

मीरा-भाइंदर को मिला ३६६ बेड का कोविड अस्पताल

मीरा-भाइंदरवासियों के लिए एक अच्छी खबर है। कल सोमवार को राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के हाथों ३६६ बेड के अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्ज कोविड अस्पताल (डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर) का ई-लोकार्पण वीडियो कॉन्प्रâेंसिंग के माध्यम से किया गया। लोकार्पण के दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना की लड़ाई में राज्य सरकार कहीं भी निधि कम नहीं पड़ने देगी। इस तरह के कोविड अस्पताल अन्य शहरों में भी बनाने की आवश्यकता पड़ने पर राज्य सरकार सदैव तत्पर रहेगी। कोरोना वायरस का अस्तित्व कब तक रहेगा, और इस वायरस के खत्म हो जाने के बाद भी इस तरह का कोई दूसरा वायरस नहीं आएगा, इस बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता। इसलिए इसको मात देने के लिए लोगों को स्वत: सतर्क और जागरूक रहने की आवश्यकता है। सभी को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और मास्क लगाने की सलाह भी मुख्यमंत्री ने दी। मनपा के एकमात्र कोविड अस्पताल के लोकार्पण के बाद अत्याधुनिक एम्बुलेंस का लोकार्पण भी ठाणे जिला के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे के हाथों संपन्न हुआ।
इस कोविड अस्पताल के लोकार्पण के बाद मीरा-भाइंदर के एकमात्र कोविड अस्पताल ‘पंडित भीमसेन जोशी अस्पताल’ का भार कम हो गया है। स्व. मीनाताई ठाकरे सभागृह के पहली और दूसरी मंजिल पर ९,४९४ वर्ग फुट में १६६ बेड का अत्याधुनिक समर्पित कोविड अस्पताल बनाया गया है। इसमें ८४ ऑक्सीजन बेड तथा ३ बेड आईसीयू के लिए आरक्षित किया गया है। इसमें से दो बेड पर वेंटिलेटर की सुविधा दी गई है। इसी प्रकार से स्व. प्रमोद महाजन सभागृह में तल, पहली व दूसरी मंजिल पर ७,९८० वर्ग फुट में २०६ बेड की अत्याधुनिक समर्पित कोविड अस्पताल तैयार किया गया है। इसमें तल मंजिल पर ५८ ऑक्सीजन बेड, ४ बेड आईसीयू के लिए आरक्षित तथा पहली मंजिल पर ७४ और दूसरे मंजिल पर भी ७४ ऑक्सीजन बेड की सुविधा उपलब्ध है।
लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट व सेंट्रल ऑक्सीजन सुविधा
मरीजों के उपचार के लिए आवश्यक विशेषज्ञ डॉक्टर व अन्य कर्मचारियों की नियुक्ति की गई है।
२४ × ७ घंटे उपलब्ध रहेंगे।
मरीजों के जांच के लिए पैथोलॉजी लैब निश्चित किया गया है। खान पान, चाय, नाश्ता, दवाई आदि मुफ्त उपलब्ध कराई जाएगी।
इस अवसर पर राज्य के नगरविकास मंत्री व ठाणे जिला के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे, सांसद राजन विचारे, विधायक प्रताप सरनाईक, विधायक गीता जैन, रविंद्र चौहान, रविंद्र फाटक, महापौर ज्योत्सना हसनाले, उपमहापौर हसमुख गहलोत, म्हाडा के सीईओ राधाकृष्णन, मनपा आयुक्त डॉ. विजय राठोड, सभागृह नेता रोहिदास पाटील, विरोधी पक्षनेता प्रवीण पाटील, शिवसेना गटनेता नीलम ढवन, जिलाप्रमुख प्रभाकर म्हात्रे, नगरसेविका कुसुम संतोष गुप्ता, स्नेहा शैलेश पांडे, आदि मान्यवर उद्घाटन कार्यक्रम स्थल पर उपस्थित थे।
रिकवरी रेट ८० फीसदी
कोरोना पर अंकुश लगाने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं। आगे भी जैसे-जैसे आवश्यकता होगी, व्यवस्था की जाएगी। अब तक मनपा को एक लाख एंटीजेन किट दी गई है। ट्रेसिंग, ट्रैकिंग, टेस्टिंग, ट्रीटमेंट पर फोकस किया गया है। यहां की रिकवरी रेट ८०फीसदी है, डबलिंग रेट ४९ फीसदी है। डेथ रेट कम करने के लिए सभी उपाय किए जा रहे हैं। राज्य सरकार, जिला प्रशासन, स्थानीय स्वराज्य संस्थाएं अपने अपने स्तर पर कार्य कर रही हैं। नागरिकों से भी निवेदन है कि वे सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क, सेनेटाइजर का कड़ाई से पालन करें।
-एकनाथ शिंदे (ठाणे जिला पालक व नगर विकास मंत्री)

कोविड सेंटर की संकल्पना साकार
इस कोविड सेंटर के निर्माण के लिए मैं सतत प्रयत्नशील था। इसके लिए सर्व प्रथम मैंने २५ मई को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से चर्चा करके तत्काल मीरा-भाइंदर शहर के लिए अत्याधुनिक कोविड सेंटर के निर्माण की अनुमति प्राप्त की थी। उसके बाद राज्य सरकार, म्हाडा, मनपा, ऐसे सभी संबंधित अधिकारियों से सतत संपर्क में रहकर इस कार्य के प्रगति की समीक्षा, अवलोकन कर रहा था, जिससे इस कोविड सेंटर की संकल्पना अल्प समय में साकार हो सकी। राज्य सरकार और म्हाडा के सहयोग से निर्मित इस सेंटर का संचालन मीरा-भाइंदर महानगरपालिका करेगी। इस समर्पित कोविड सेंटर से नागरिकों को बहुत राहत मिलेगी। कोरोना मरीजों को समय पर उचित उपचार मिल सकेगा।
-प्रताप सरनाईक (शिवसेना विधायक)