" /> स्वास्थ्य के संकट, हर रहे हैं विघ्नहर्ता!

स्वास्थ्य के संकट, हर रहे हैं विघ्नहर्ता!

कोरोना महामारी ने इस साल पर्व-त्योहारों का स्वरूप भी बदल दिया है। यही वजह है कि मुंबई के सबसे प्रिय उत्सव गणेशोत्सव इस बार काफी संयम के साथ मनाया जा रहा है। लोगों की भीड़ कहीं नहीं दिख रही है। गणेशोत्सव में धूम-धड़ाके में डूबे रहनेवाले इस शहर में एक सन्नाटे का अहसास साफ दिखता है। हालांकि कोरोना के कारण बड़े मंडलों ने सरकारी निर्देशों का पालन करते हुए श्री गणेश की छोटी प्रतिमा रखकर उत्सव मनाया। वहीं कुछ मंडलों ने विघ्नहर्ता से कोरोना का विघ्न हरने की प्रार्थना की। ऐसे में शहर में कई जगह रक्तदान जैसे परोपकार के कार्य मंडलों के पंडालों में दिखा और विघ्नहर्ता स्वास्थ्य के इस संकट को हरते नजर आए।

बता दें कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कोरोना वायरस की महामारी के संकट के समय में लोगों से गणेशोत्सव के पर्व पर समाजसेवी कार्य करने की विनती की है। ऐसे में मुख्यमंत्री की इस राय को गणेश मंडलों द्वारा सराहा जा रहा है। अपने भक्तों की मनोकामना पूर्ण करने के लिए प्रसिद्ध लालबाग चा राजा का दर्शन भले ही भक्त ऑनलाइन कर रहे हों लेकिन उनकी भक्ति तथा उत्साह में कोई कमी नहीं है। इस वर्ष यहां पूरे उत्सव के दौरान रोजाना रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इस मंडल के अध्यक्ष सुरेश साल्वी ने बताया कि बप्पा की स्थापना के दिन ४४४ गणेश भक्तों ने रक्तदान किया। इसी तरह २३ अगस्त को ९३० तथा २४ अगस्त को ८१५ बैग रक्तदान हुआ। अब तक यहां कुल २१८९ बैग रक्त इकट्ठा हो चुके हैं। इसी तरह यह सेवा भक्तों द्वारा पूरे गणेशोत्सव के दौरान जारी रहेगी।

इसी तरह अंधेरी के सबसे चर्चित ‘मरोल का राजा’ के गणेश भक्तों ने स्वास्थ्य सप्ताह का आयोजन किया है। मंडल द्वारा आयोजित स्वास्थ्य सप्ताह के पहले दिन, कम दरों पर नि: शुल्क नेत्र जांच और चश्मा वितरित किए गए। ५५ वर्षों से मरोल का राजा धूमधाम से गणेशउत्सव मनाता रहा है। पहले दिन जहां नेत्र जांच का आयोजन हुआ, वहीं दूसरे दिन बरसात से होनेवाले संक्रमण की जांच डॉक्टरों ने किया। आज त्वचा रोग, स्त्री रोग, यूनानी उपचार, व अंत मे कर्क व स्तन रोग के इलाज के शिविर का आयोजन किया गया है। इस मंडल के अध्यक्ष अनिल दांडेकर कार्य अध्यक्ष व वार्ड ८६ के शाखाप्रमुख बिपिन शिंदे हैं। युवा सेना के वार्ड ८६ के युवा अध्यक्ष किरण पुजारी ने बताया कि इस वर्ष माननीय मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आह्वान पर मरोल का राजा लोगों के लिए स्वास्थ्य शिविर का आयोजन कर रहा है।

इसी तरह अंधेरी पश्चिम स्थित आजाद नगर के अंधेरी का राजा का पंडाल में पहले दिन ही १५ गणेश भक्तों ने अपना रक्त दान किया। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आह्वाहन के बाद अंधेरी का राजा गणेश उत्सव मंडल के अध्यक्ष ने इस बार इस पंडाल में रक्तदान शिविर का आयोजन किया है। मंडल के अध्यक्ष शैलेश फणसे के मुताबिक गणेश उत्सव के अंत तक ४०० बोतल खून जरूरतमंदों के लिए इकट्ठा करना है। इस पंडाल में आगामी २०२८ तक मूर्तियों का डोनेशन बुक है। कोरोना की महामारी के कारण इस बार गणपति के चरण स्पर्श नहीं किए जा रहे, सिर्फ दर्शन हो रहे हैं। साथ ही मूर्ति विसर्जन के लिए भी इस बार पंडाल के पास ही एक आर्टिफिशियल तालाब बनाया गया है। इस मंडल से जुड़े सुबोध ने बताया कि कल १५ लोगों ने रक्तदान किया है। रक्तदान करने का उत्साह लोगों में देखने को मिल रहा है।