" /> बेबस बेगुनाह!, बच्ची भुगतेगी मां की गलतियों की सजा

बेबस बेगुनाह!, बच्ची भुगतेगी मां की गलतियों की सजा

अखबार या मीडिया में आज विवाहेत्तर संबंधों की खबरें लगभग रोज ही पढ़ने को मिल जाती हैं। विवाहेत्तर संबंधों के कारण कहीं पति द्वारा पत्नी की तो कहीं पत्नी के प्रेमी की हत्या का मामला सामने आता है तो वहीं कई मामले में पति, पत्नी के नाजायज प्रेम की बलि चढ़ जाता है। प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी द्वार पति की हत्या के कई मामले हाल ही में सामने आए हैं। लेकिन यूपी के मैनपुरी में विवाहेत्तर संबंधों का एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें एक महिला द्वारा अतीत में बनाए गए विवाहेत्तर संबंध की कीमत उसकी नवजात बच्ची को ताउम्र चुकानी पड़ेगी।
कुछ साल पहले यूपी के मैनपुरी जनपद स्थित बिछवां क्षेत्र के एक गांव में एक बेमेल प्यार परवान चढ़ा। उस प्यार के किस्से पूरे गांव में चर्चा का विषय बने थे, वजह थी प्रेमी के लिए महिला का पति को छोड़ जाना। अब प्रेमी द्वारा छोड़ कर भाग जाने के कारण वह महिला एक बार फिर सुखिर्‍यों में है क्योंकि उसके नाजायज प्यार की सजा उसकी वह नवजात बेटी भुगतेगी, जो प्रेमी से संबंधों के कारण पैदा हुई है।
बिछवां थाना क्षेत्र के एक गांव के युवक को कुछ साल पहले गांव की करीब १० वर्ष बड़ी विवाहित महिला से प्यार हो गया। घर पास होने के कारण से दोनों के बीच पहले इशारों-इशारों में बातें होती थीं। फिर घर में आना-जाना भी शुरू हो गया और बात नाजायज संबंधों तक पहुंच गई। पारिवारिक संबंधों के कारण प्रारंभ में किसी को शक नहीं हुआ लेकिन बात जब हद से ज्यादा बढ़ी तो पूरे गांव में चर्चा का विषय बन गई। बवाल बढ़ने पर युवक महिला को लेकर दिल्ली (अलीगढ़) लचला गया। वहां काफी समय दोनों साथ रहे। करीब दो माह पहले अलीगढ़ में महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया। बच्ची के जिम्मेदारी का बोझ महसूस हुआ तो युवक के इश्क की खुमारी उतर गई। इसके बाद वह महिला को जानकारी दिए बगैर कहीं चला गया। महिला ने कुछ दिनों तक अपने प्रेमी का इंतजार किया लेकिन वह नहीं लौटा। अंतत: महिला मासूम के साथ गांव लौट आई। महिला के पति ने उसे अपनाने से इंकार कर दिया। प्रेमी के परिजनों से उसने बच्ची को स्वीकार करने की गुहार लगाई, लेकिन वे लोग राजी नहीं हुए। दो दिन पूर्व महिला ने बच्ची को युवक के परिजनों के पास छोड़कर चली गई। मामला थाने पहुंचा तो पुलिस समाधान के प्रयास में जुट गई।
युवक के परिजनों ने साफ कह दिया कि वह बच्ची को साथ नहीं रखना चाहते। वह बेटे को पहले ही बेदखल कर चुके हैं। उधर महिला के सामने मजबूरी है कि पहले पति को छोड़कर प्रेमी का हाथ थामा, लेकिन उसने भी धोखा दे गया। इस बीच दो दिन से दो माह की मासूम की जान आफत में फंसी हुई है। इस मामले का पुलिस हर हाल में सही निपटारा करने का प्रयास कर रही है। प्रभारी निरीक्षक नरेंद्र पाल सिंह के अनुसार मामला एसडीएम के समक्ष भेजा गया है। वहां से प्राप्त आदेश के अनुसार पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।