" /> बारिश में बरसे पत्थर!, पहाड़ी ढ़ही, मलबे ने किया हाइवे जाम

बारिश में बरसे पत्थर!, पहाड़ी ढ़ही, मलबे ने किया हाइवे जाम

सोमवार रात से मुंबई सहित आस पास के क्षेत्रों में मूसलाधार हो रही है। बारिश इतनी तेज थी कि पहाड़ी पत्थर भी इस का वेग झेलने में असमर्थ रहे। रात भर हुई तेज बरसात के करण मालाड पूर्व, बाण डोंगरी की पहाड़ी कल मंगलवार की सुबह साढ़े छह बजे के करीब अचानक भरभरा कर गिर पड़ी। इससे बोरीवली से बांद्रा की तरफ जानेवाला वेस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे का हिस्सा पहाड़ी मलबे से पट गया। इस दुर्घटना में एक कार के कांच पर पत्थर गिरने से ड्राइवर को आंख के पास मामूली चोट लगी। इसकी पुष्टि समता नगर के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजू कसबे ने की। वहीं लोगों का कहना है कि यह घटना सुबह न घट कर दिन में किसी समय घटित होती तो जान माल का काफी नुकसान हो सकता था। घटना के बाद एमएमआरडीए द्वारा युद्ध स्तर पर मलबा हटाने का काम किया गया।
बता दें कि पुष्पा पार्क के पास हाइवे पर फ्लाई ओवर ब्रिज बनाए जाने के समय उस दौरान दक्षिण की ओर जानेवाला हाइवे बाण डोंगरी के पास बहुत संकरा हो गया था। तब उस पहाड़ी को काटा गया था। उस वजह से हाइवे तो चौड़ा हुआ पर जो खतरा तब निर्माण हुआ था उसका परिणाम कल मंगलवार को पहाड़ी धंसने के रूप में सामने आया। इस दुर्घटना में भले ही जन हानी नही हुई पर खतरा अभी टला नही है।
विधायक जी खतरा बरकरार है।
गौरतलब है कि मालाड पूर्व के हाइवे पर जिस जगह पहाड़ी धसने की घटना घटित हुई वहां से लगभग ५० मीटर उत्तर की तरफ ठीक पहाड़ी के नीचे शौचालय और बस स्टॉप बने हैं। यहां पर भी हाइवे चौड़ीकरण के दौरान पहाड़ी को काटा गया था। जब वहां पर शौचालय और बस स्टॉप बने थे तब इस क्षेत्र के भाजपा विधायक अतुल भतखलकर ने इस का जमकर श्रेय लिया था। बस स्टॉप होने के चलते वहां पर प्रवासियों की सुबह से लेकर देर रात तक भीड़ रहती है। शौचालय का उपयोग भी काफी संख्या में लोग करते हैं। ईश्वर न करे लेकिन मंगलवार सुबह की तरह अगर शौचालय और बस स्टॉप के पीछे की पहाड़ी किसी कारण धंसी तो उस दुर्घटना में काफी लोग अकाल मौत को प्राप्त हो जाएंगे। शौचालय में लघुशंका करने आए एक ऑटो रिक्शा चालक त्रिभुवन पांडेय का कहना है कि पहले इतना डर नहीं लगता था। कल सुबह की घटना के बाद से इस शौचालय में जाने से डर लगने लगा है। अगर सचमुच में यहां पहाड़ी धंसी तो लोगों का बचना मुश्किल होगा। वहीं अंधेरी की ओर जाने वाले एक प्रवासी रवि शिंदे का कहना है कि जनप्रतिनिधि का काम है जनता को सुविधा देना। साथ ही कोई जनहित का काम किया जाता है तो उसके दूरगामी परिणाम पर विचार करना भी जरूरी है। सिर्फ वाह वाही लूटने के लिए काम नहीं करना चाहिए। शिंदे ने भाजपा विधायक भातखलकर को संदेश देते हुए कहा कि खतरा अभी बरकरार है।
एमएमआरडीए ने मलबा हटाया
पहाड़ी धंसने की घटना की खबर मिलते ही एमएमआरडीए के अधिकारी दलबल के साथ वहां पहुंचे। युद्ध स्तर पर मलबे हो हटाने के काम में जुटे एमएमआरडीए के लोग दोपहर तक दक्षिण की ओर जानेवाली हाइवे के लेन खोलने में कामयाब हुए। खबर लिखे जाने तक मलबा हटाने का काम जारी था।