" /> हिंदुजा अस्पताल में कोरोना का खौफ

हिंदुजा अस्पताल में कोरोना का खौफ

माहिम स्थित हिंदुजा अस्पताल में एक जोड़ा कोरोना संक्रमित पाया गया है। ६४ वर्षीय बुजुर्ग मरीज हाल ही में दुबई से लौटा था। मामला सामने आते ही अस्पताल में अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया। बुजुर्ग की पत्नी जो उसके साथ रहती है, उसे भी कोरोना संक्रमित पाया गया है। इसके बाद प्रशासन ने अस्पताल के कर्मचारी, डॉक्टर और मरीज के रिश्तेदार इन सभी को अन्य लोगों से दूर अलग रखा है। ये दो मामले आने के बाद मुंबई में खबर लिखे जाने तक कोरोना के कुल ५ मामले दर्ज किए गए।
बुजुर्ग मरीज को हिंदुजा से संत गाडगे महाराज चौक (सात रास्ता) स्थित कस्तुरबा अस्पताल भेज दिया गया है। मरीज के संपर्क में आनेवाले अन्य ७ व्यक्तियों को भी कस्तुरबा में भर्ती किया गया है। इसके अलावा हिंदुजा अस्पताल के ८ कर्मचारियों को हिंदुजा में ही भर्ती किया गया है लेकिन इन सभी की सैंपल जांच नेगेटिव आई है। बुजुर्ग मरीज किसी प्रकार के हृदय रोग से पीड़ित है और वह हाल ही में दुबई से लौटा था। उसे ८ मार्च को हिंदुजा में भर्ती किया गया। मरीज के लक्षण को देखते हुए डॉक्टर ने उसका सैंपल जांच के लिए भेजा। बीते गुरुवार शाम में आई रिपोर्ट में वह कोरोना संक्रमित पाया गया। प्रशासन के एक अधिकारी ने कहा कि अस्पताल ने कुल ८२ कर्मचारियों की लिस्ट तैयार की जो किसी न किसी तरह मरीज के संपर्क में आए थे। इन सभी को उनके घर अकेले रखा गया है। मरीज जिस इमारत में रहता है, उसे मनपा के कर्मचारियों ने सोडियम हाइड्रोक्लोराइड नामक केमिकल से साफ किया। डॉक्टरों ने ३० कर्मचारियों की ५ टीम बनाकर मरीज के आस-पास रहनेवाले ४६० घरों के लोगों की जांच की लेकिन राहत की बात ये है कि उनमें कोई लक्षण नहीं दिखाई दिए। इस घटना के बाद अस्पताल प्रशासन चौंकन्ना हो गया है। सभी मरीजों को भर्ती करने से पहले उनकी विदेश यात्राओं की जानकारी ली जा रही है।